हरक सिंह रावत भाजपा से निष्कासित होने के बाद कांग्रेस में शामिल होने को बेताब!

देहरादून, ब्यूरो। उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव से पहले दल-बदलू और कद्दावर नेता की छवि रखने वाले पूर्व मंत्री हरक सिंह रावत भाजपा से निष्कासित होने के बाद कांग्रेस में जाने के लिए इस कदर बेताब हैं कि वह पूर्व सीएम हरीश रावत से 100 बार भी माफी मांगने को तैयार हैं। उनका यह बयान फिलहाल मीडिया की सुर्खियों में है। जानकारी के अनुसार हरक सिंह रावत ने पूर्व सीएम हरीश रावत की माफी मांगने की शर्त स्वीकार कर ली है। हरक सिंह रावत के अनुसार वह बड़े भाई हरीश रावत से सौ बार भी माफी मांगने को तैयार हैं।

devbhoomi

मीडिया रिपोर्ट्र्स के अनुसार हरक सिंह रावत ने कहा कि ‘‘हरीश को बड़ा भाई मानते हुए हरक सिंह रावत को कांग्रेस और हरीश रावत की सभी शर्तें मंजूर हैं। उत्तराखंड के विकास के लिए वह कुछ भी कर सकते हैं। अगर उनकी माफी मांगने पर उनके बड़े भाई हरीश उन्हें माफ कर देते हैं तो यह बहुत अच्छी बात होगी। कांग्रेस हाईकमान से आज भी बात की है। उनके कांग्रेस के दोबारा ज्वाइन करने पर उन्हें जल्द ही बताया जाएगा। कांग्रेस हाईकमान के फैसले पर ही मैं आगे की कोई रणनीति या कोई निर्णय ले पाऊंगा।’

uttarakhand news

वहीं, सूत्रों की मानें तों आज देर शाम तक कुछ विधायकों के साथ हरक सिंह रावत की बहू और मिस इंडिया ग्रैंड इंटरनेशनल अनुकृति भी कांग्रेस पार्टी का दामन थाम सकती हैं। कहीं न कहीं हरीश रावत और हरक के बीच का मतभेत शायद दूर कर दिया जाएगा। इसके साथ ही वह अपनी पुत्रबधु समेत कुछ विधायकों को भी कांग्रेस में शामिल करवा सकते हैं। ऐसे में भाजपा को चुनाव से पहले बड़ा झटका लग सकता है। हालांकि राजनीति में कायासबाजी कब हकीकत में बदल जाए या समीकरण कब क्या हो जाएं कहना मुश्किल है।

uttarakhand devbhoomi

YOU MAY ALSO LIKE

फिलहाल हरक सिंह रावत की हनक कहीं न कहीं हरीश रावत के आगे नतमस्तक है। वह उन्हें बड़ा भाई कहते हुए 100 बार भी माफी मांगने को तैयार हैं। हरक की हनक का एक वीडियो इस बीच खूब वायरल हो रहा है। जिसमें वह हरीश रावत की सरकार गिराने की बात चीख-चीख कर कह रहे हैं। ऐसे में यह वीडियो आग में घी डालने का काम कर रहा है। अब देखना होगा कि हरक सिंह रावत भाजपा को कितना नुकसान पहुंचाते हैं और कब तक कांग्रेस का दामन थाम चुनाव मैदान में शह-मात का नया गणित और पासा फेंकते है।

Leave your comment

Your email address will not be published.