देवघर में ‘बेघर’ हो कैसे आसमान में लटकी 40 जिंदगियां? बचाने को जंग जारी; दो की मौत

0
225
devbhoomi

आसमान में फंसे लोगों को ड्रोन के माध्यम से पहुंचा रहे खाना-पानी, दो लोगों की हो चुकी है मौत

देवघर/झारखंड, ब्यूरो। रामनवमी के मौके पर झारखंड के देवघर में 40 लोग रोपवे की दो ट्राॅलियों के आपस में टकराने के बाद करीब 18 और ट्राॅलियां जहां-तहां फंस गई। कल देर शाम यहां घूमने आए श्रद्धालुओं को बचाने के लिए रेस्क्यू आपरेशन जारी है। अभी तक 16 लोगों को रोपवे की केबिन से सुरक्षित निकाला जा चुका है। बता दें कि रविवार को रामनवमी की पूजा करने और घूमने के उद्देश्य से यहां सैंकड़ों पर्यटक पहुंचे थे। इस दौरान रोपवे की नीचे आ रही ट्राली ऊपर जा रही ट्राली से टकरा गई। हादसे के समय दो दर्जन ट्रालियां ऊपर थीं। करीब 18 ट्रालियां ऊपर ही फंसी हुई हैं, जिसमें 40 लोग सवार हैं। इनमें छोटे बच्चे और महिलाएं भी हैं।

रेस्क्यू आपरेशन चला रही आईटीबीपी के अफसरों के अनुसार आज सोमवार को 8 लोगों को निकाला गया। जबकि रविवार को 11 लोगों को बचाया गया था। शाम तक सभी लोगों को सुरक्षित निकाल लिया जाएगा। रोपवे हादसे में दो एमआई-17 हेलीकॉप्टरों को लगाया गया है। इस हादसे में अब तक एक महिला समेत दो लोगों की मौत हो चुकी है। आसमान में फंसे लोगों को ड्रोन के माध्यम से खाना-पानी पहुंचाया जा रहा है। स्थानीय लोगों की मदद से भी रेस्क्यू अभियान चलाया जा रहा है। इस हादसे पर सरकार पूरी तरह से नजर बनाए हुए है। राहत एवं बचाव कार्यों के लिए सरकार द्वारा लगातार निर्देश दिए जा रहे हैं।

devbhoomi

आसमान में जिंदगी और मौत के बीच जंग जारी है। त्रिकूट रोपवे में रात भर फंसे 48 पर्यटकों को सकुशल नीचे उतारने के लिए वायु सेना, आर्मी और स्थानीय युवकों ने रेस्‍क्‍यू ऑपरेशन तेज कर दिया है। रविवार की शाम हुए हादसे के करीब 20 घंटे बाद अब तक 16 लोगों को केबिन से सुरक्षित निकाल लिया गया है। अधिकारियों ने बताया कि लोगों को निकालने के लिए जैसे ही सेना ने हेलीकॉप्टर का सहारा लिया। पंखे की तेज हवा से ट्रालियां हिलने लगीं, इससे लोगों की जान पर बन आई। जिला कलेक्टर मंजूनाथ भैजंत्री ने बताया कि फिलहाल रोपवे बंद है। ट्राली के डिस्पलेस होने से दुर्घटना घटी है। घायलों को अस्पताल भेजा गया है।