दून वाले सावधान! कल शहर में निकलने से पहले देख लें ये ट्रैफिक प्लान, हेलीकाॅप्टर से होगी पुष्प वर्षा

0
303

देहरादून, ब्यूरो। उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में मंगलवार 9 अगस्त को निकलने से पहले यातायात पुलिस की ओर से जारी ट्रैफिक प्लान जरूर देख लें, अन्यथा आपको भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा। दरअसल, मंगलवार 9 अगस्त को उत्तराखंड की राजधानी देहरादून के प्रसिद्ध टपकेश्वर महाराज की शोभा यात्रा निकाली जाएगी। इस दौरान देहरादून शहर के कई जगहों से ट्रैफिक डायवर्ट रहेगा। यातायात पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार पूर्वाह्न 11ः00 बजे शिवाजी धर्मशाला सहारनपुर रोड से शोभायात्रा शुरू होगी। शोभायात्रा यहां से झंडा बाजार, आनंद चौक, पीपल मंडी चौक, पलटन बाजार, चकराता रोड, बिंदाल चौक, किसननगर चौक से कैंट रोड होते हुए गढ़ी कैंट टपकेश्वर महादेव मंदिर में संपन्न होगी। इस दौरान हेलीकाॅप्टर से शोभायात्रा पर फूलों की वर्षा भी की जाएगी।

dehradun traffic

दून वाले सावधान! कल शहर में निकलने से पहले देख लें ये ट्रैफिक प्लान, हेलीकाॅप्टर से होगी पुष्प वर्षा

कोरोना काल के लंबे दौर के बाद आयोजित हो रही इस भव्य शोभायात्रा में सैकड़ों भक्त और श्रद्धालु शामिल हो होंगे। टपकेश्वर मंदिर समिति की ओर से शहर के करीब 300 जगहों पर भव्य द्वार बनाए गए हैं। मंगलवार 9 अगस्त को देहरादून शहर का ट्रैफिक रहेगा। शिवाजी धर्मशाला सहारनपुर रोड से शोभा यात्रा निकालने पर आईएसबीटी की तरफ से आने वाला पूरा ट्रैफिक निरंजनपुर मंडी से जीएमएस रोड की तरफ भेजा जाएगा। उसके बाद साहरनपुर चौक पहुंचने पर बल्लीवाला चौक से सहारनपुर चौक आने वाले वाहनों को लक्ष्मण चौक से भेजा जाएगा। जबकि शोभायात्रा झंडा बाजार पहुंचने पर शहर का ट्रैफिक सामान्य कर दिया जाएगा। वहीं, इसके बाद चकराता रोड पर शोभायात्रा पहुंचने पर घंटाघर की तरफ से आने वाला ट्रैफिक दिलाराम चौक की तरफ भेज दिया जाएगा। शोभा यात्रा किसन नगर चौक से निकलने के बाद फिर से चकराता रोड पर ट्रैफिक सामान्य होगा। वहीं, इस दौरान कैंट रोड पर कोई भी वाहन की एंट्री नहीं दी जाएगी। जबकि गढ़ी कैंट बाजार से शोभायात्रा टपकेश्वर महादेव मंदिर की ओर निकलने के बाद फिर से कैंट रोड पर ट्रैफिक सामान्य कर दिया जाएगा। टपकेश्वर महादेव मंदिर समिति के महंत कृष्णागिरी के अनुसार शोभायात्रा, और भंडारे की पूरी तैयारी कर ली गई है। शोभायात्रा के दौरान हेलीकॉप्टर से पुष्प वर्षा की व्यवस्था भी की जाएगी।