सोशल मीडिया और इंटरनेट के जरिए कांग्रेस करेगी प्रचार प्रसार, कोरोना नियमों का रखा जाएगा ध्यान

वर्चुअल माध्यम से प्रचार करना राजनीतिक पार्टियों के सामने बड़ी चुनौती

देहरादून (संवाददाता-अमित रतूड़ी): उत्तराखंड में 14 फरवरी को विधानसभा चुनाव के लिए मतदान होना है। प्रदेश की सत्ता में वापसी की संभावनाएं देख रही कांग्रेस पार्टी इंटरनेट मीडिया पर पहले से ही काफी सक्रिय है। सत्तारूढ़ दल और सरकार के खिलाफ तीखे तेवरों के साथ लड़ाई छेड़ी जा चुकी है। कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रकोप और चुनाव आयोग के निर्देशों को देखते हुए डिजिटल प्लेटफार्म पर भी निर्णायक लड़ाई की तैयारी शुरू की गई है। कांग्रेस नेतृत्व डिजिटल प्लेटफार्म के माध्यम से देहरादून, हल्द्वानी, अल्मोड़ा, श्रीनगर, चमोली और पिथौरागढ़ समेत प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में बडे वेबिनारों को संबोधित करेगा।

YOU MAY ALSO LIKE

प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने कहा कि डिजिटल माध्यम से लोगों से जोड़ने का काम किया जाएगा। इसके साथ ही चुनाव आयोग को भी इस पर विचार करना चाहिए कि किस तरीके से प्रत्याशियों को जनता से जोड़ा जाए। उन्होंने कहा हम पूरी तरीके से डिजिटल माध्यम से जनता से जुड़ने का काम कर रहे हैं। इसके लिए हमने कई टीमों को तैयार किया है जो टीवी स्क्रीन और अन्य माध्यमों से जनता से जुड़ने का काम करेंगी।

uttarakhand
कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल

देखा जाए तो विधानसभा चुनाव चंद दिन बाद होने हैं। कोरोना के कारण रैलियों पर भी रोक और पूरे राज्य में धारा 144 लागू है। ऐसे में नेताओं के सामने यह एक बड़ी चुनौती भी है। वर्चुअल माध्यम से लोगों को कितना पार्टियों अपनी ओर कर पाएंगी यह आगामी चुनाव परिणाम आने के बाद ही सामने आएगा, लेकिन हर दल अपनी ही बंपर जीत का का दावा कर रहे हैं।

Leave your comment

Your email address will not be published.