कॉमनवेल्थ में भारत ने दिखाया शानदार प्रदर्शन, कुल 61 पदक किए हासिल

0
265

कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में भारत का शानदार प्रदर्शन देखने को मिला है।भारत ने अपने खास प्रदर्शन के चलते कुल 61 पदक हासिल किए है। इसमें 22 स्वर्ण, 16 रजत और 23 कांस्य पदक शामिल हैं। बता दें कि इससे पहले कॉमनवेल्थ गेम्स 2018 में भारत ने कुल 66 पदक जीते थे। इनमें से 16 पदक सिर्फ शूटिंग में ही आए थे। जबकि इस बार शूटिंग को इसमें शामिल नहीं किया गया था, यह एक बड़ा कारण है जिसके चलते भारत के पांच पदक कम हुए हैं। इसी के चलते चार स्वर्ण पदक की कमी हुई है। 

CWG

जबकि कॉमनवेल्थ गेम्स 2018 में केवल शूटिंग से ही सात स्वर्ण पदक मिले थे। जैसा कि इस बार भारत ने  एथलेटिक्स, लॉन बॉल जैसे खेलों में जबरदस्त प्रदर्शन किया है जिसके चलते पैरा एथलीटों ने भी काफी कमाल किया है। इसी वजह से भारतीय खिलाड़ी इस बार भी अच्छा प्रदर्शन करने में कामयाब रहे हैं। पदक तालिका में भारत का चौथा स्थान रहा है। जबकि ऑस्ट्रेलिया ने पहला स्थान प्राप्त किया है। वही इंग्लैंड दूसरे स्थान पर रहा है और कनाडा तीसरे स्थान पर रहा है। इनके अलावा न्यूजीलैंड ने पांचवां स्थान प्राप्त किया है। कहा जा सकता है कि बर्मिंघम में हुए कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 के हर खेल में भारत ने अपना जलवा बरकरार रखा। इस कॉमनवेल्थ गेम्स में सबसे ज्यादा मेडल  वेटलिफ्टिंग और कुश्ती से आए हैं। भारत के पहलवानों ने वेटलिफ्टिंग में कुल 10 मेडल जीते और कुश्ती में कुल 12 पदक अपने नाम किये हैं

 भारत को सबसे ज्यादा कुश्ती में 12 पदक मिले। भारत को कुश्ती में छह स्वर्ण, एक रजत और पांच कांस्य पदक मिले हैं। भारत की ओर से कॉमनवेल्थ गेम्स में 12 पहलवानों ने हिस्सा लिया था। जिसमें सभी ने मेडल जीता। इसके बाद वेटलिफ्टिंग भारत को 10 पदक मिले, जिसमें तीन स्वर्ण, तीन रजत और चार कांस्य पदक हासिल किये। एथलेटिक्स में भारत को 8 पदक मिले हैं। जिसमें एक स्वर्ण, चार रजत और तीन कांस्य पदक हैं। बाक्सिंग में भी भारत का अच्छा प्रदर्शन रहा है। भारत को बॉक्सिंग में 7 पदक प्राप्त हुए जिसमें तीन स्वर्ण, एक रजत और तीन कांस्य पदक मिले। टेबल टेनिस में खिलाड़ियों का बेहतर प्रदर्शन रहा। इस बार टेबल टेनिस में भारत को चार स्वर्ण, एक रजत और दो कांस्य पदक के साथ सात पदक मिले। बैडमिंटन में भी भारत ने इस बार अपना परचम लहराया। भारत को बैडमिंटन में 6 पदक मिले जिसमें तीन स्वर्ण, एक रजत और दो कांस्य पदक हैं। ऐसे ही भारत को जूडो में दो रजत एक कांस्य पदक जीते। लॉन बॉल  में भी भारत ने कमाल किया, भारतीय महिलाओं ने पहली बार लॉन बॉल में स्वर्ण पदक मिला जबकि पुरुष वर्ग में रजत पदक मिला। हॉकी में भारत को पुरुष टीम को रजत और महिला टीम को कांस्य पदक मिला। स्क्वैश में भारत को दो कांस्य और पैरा पावर लिफ्टिंग में सुधीर को कांस्य पदक मिला।