रुड़की (संवाददाता- दीप रमोला): 2022 विधानसभा चुनाव के मद्देनजर शासन प्रशासन ने अपनी कमर कस ली है और सभी प्रत्याशियों से गाइडलाइन का पालन करते हुए क्षेत्र में घूमना व लोगों से

YOU MAY ALSO LIKE

मिलते समय मास्क लगाना भीड़भाड़ वाले क्षेत्र में ना घूमना जैसी बातें रखी गई है। वहीं अगर बात करें तो बीती 8 जनवरी को आचार संहिता प्रदेश में लागू हो चुकी है और सभी नेताओं व प्रत्याशियों को यह भी मालूम है कि आचार संहिता में 4 से अधिक लोगों का एक जगह इकट्ठा होना कानूनी श्रेणी में आता है। वहीं अगर बात करें तो कोरोना जैसे मामले को बढ़ता हुआ देख सरकारी गाइडलाइन बनाई गई है जिसमें मास्क लगाना अनिवार्य किया गया है और रात 10:00 बजे से सुबह 6:00 बजे तक प्रदेश के अंदर कर्फ्यू भी लगा दिया गया है।

वहीं आपको बता दें कि बहुजन समाज पार्टी के झबरेड़ा से प्रत्याशी आदित्य बृजवाल किसी भी नियमावली का पालन नहीं कर रहे हैं लगातार उनकी फेसबुक की पोस्ट और उनके फोटो यह बयां कर रहे हैं कि प्रशासन के अधिकारी उन पर कोई कार्यवाही करें। हालांकि उन्हें इसका भी कोई डर नहीं है और सभी नियमों को ताक पर रखकर वह क्षेत्र में घूम रहे हैं। अगर बात करें झबरेड़ा विधानसभा क्षेत्र की तो ये क्षेत्र बहुत बड़ा है और वह 1 दिन में हजारों लोगों से मिलते होंगे। अब यह तो किसी को मालूम नहीं होगा कि किसको संक्रमण हो। हालांकि उनके मुंह पर भी मास्क नहीं देखा गया।

अब ऐसे में क्या कहें कि वह सिर्फ अपने वोट बटोरने के चक्कर में कोरोना के मामलों को बढ़ाना चाहते हैं या फिर यह कहे कि जिस तरह से बीती रात के फोटो में उनके साथ भीड़ दिखाई दे रही है वह भी आचार संहिता की धज्जियां उड़ाता दिखाई दे रहा है। अब देखना होगा कि प्रशासन के अधिकारी इस ओर कोई ध्यान देते हैं या नहीं और जिस तरह से इनके फोटो देखे जा रहे हैं उस पर कोई कार्यवाही होती है या नहीं। इस विषय में बीएसपी के प्रत्याशी आदित्य के परिवार से जानकारी लेने के लिए कॉल किया गया तो वह कॉल उठाने को भी तैयार नहीं है। हालांकि इस भीड़ को देखते हुए और मास्क ना पहन कर घूमते हुए बीएसपी के प्रत्याशी पर कानूनी कार्यवाही तो बनती है।

Follow us on our Facebook Page Here and Don’t forget to subscribe to our Youtube channel Here

Leave your comment

Your email address will not be published.