देहरादून (संवाददाता) : उत्तराखंड में कोरोना के साथ ही ओमिक्रोन संकरण के मामले बढ़ते जा रहे हैं। राज्य में अब इस वैरिएंट के 8 मामले दर्ज हो चुके हैं। उत्तराखण्ड में नव वर्ष के पहले दिन ओमिक्रोन पॉजिटिव 4 नये मरीज चिन्हित किए गये हैं। स्वास्थ्य महानिदेशक डॉ तृप्ति बहुगुणा द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार दून मेडिकल कॉलेज लैब द्वारा 4 मरीजों की कोविड-19 सैम्पल जांच रिपोर्ट पॉजिटिव पाये जाने के उपरान्त की गयी जिनोम सिक्वेन्सिग अनुसार सभी 4 मरीजों में ओमिक्रोन वैरियन्ट के होने की पुष्टि हुई है।

स्वास्थ्य महानिदेशक के अनुसार जिन मरीजों में ओमिक्रीन वैरियन्ट का पता चला है उनमें देहरादून निवासी एक 28 वर्षीय युवक का सैम्पल जांच हेतु 21 दिसम्बर को लिया गया था जिसे उसी तिथि में कोविड-19 पॉज़िटिव पाए जाने पर जिनाम सिक्वेन्सिग के लिए दून मेडिकल कॉलेज लैब भेजा गया। यह युवक अंतर्राष्ट्रीय यात्रा द्वारा 17 दिसम्बर को गुरूग्राम से देहरादून आया एवं किसी प्रकार के लक्षण न होने पर भी होम आईसोलेशन में रहते हुए कोविड-19 की जांच हेतु सैम्पल लिया गया था।

दूसरा मरीज त्यागी रोड, देहरादून निवासी 23 वर्षीय युवक है और यह व्यक्ति गुरुग्राम से 21 दिसम्बर को देहरादून आया और लक्षण रहित होने के बावजूद भी होम आईसोलेशन में रहते हुए इनका सैम्पल कोविड-19 जांच के लिए 24 दिसम्बर को भेजा गया जो पॉजिटिव पाया गया। इसके उपरान्त मरीज के सैम्पल की दून मेडिकल कॉलेज लैब में जिनोम सिक्वेन्सिग कराने पर ओमिक्रोन वैरियन्ट का पता चला है।

तीसरा मरीज़ त्यागी रोड, देहरादून निवासी 15 वर्षीय किशोरी है जो उक्त 23 वर्षीय युवक के सम्पर्क में होने के कारण इनका सैम्पल भी काविड-19 जांच को 24 दिसम्बर को भेजा गया जो पॉजिटिव पाया गया। सैम्पल की जिनोम सिक्वेन्सिंग से पता चला कि किशोरी ओमिक्रोन वैरियन्ट से ग्रसित है इस मरीज की अन्य किसी प्रकार की यात्रा हिस्ट्री नहीं है।

चौथा मरीज 27 वर्षीय युवक अहमदाबाद, गुजरात का रहने वाला है जो अहमदाबाद में ही होम आइसोलेशन में रह रहा था और 21 दिसम्बर को अहमदाबाद से ऋषिकेश आया तथा 24 दिसम्बर वापस अहमदाबाद चला गया। इस अवधि में युवक का सैम्पल 23 दिसम्बर को जनपद पौड़ी गढ़वाल द्वारा कोविड-19 जांच हेतु लिया गया जिसकी 24 दिसम्बर को प्राप्त रिपोर्ट में कोविड-19 पॉजिटिव पाये जाने की पुष्टि हुई। मरीज का सैम्पल पुनः मेडिकल कॉलेज लैब को जिनोम सिक्वेन्सिग के लिए दिया गया जिसमें ओमिक्रोन वैरियन्ट की पुष्टि हुई है। युवक में ओमिक्रोन वैरियन्ट पाए जाने के बारे में गुजरात सरकार को भी आवश्यक कार्यवाही हेतु अवगत करा दिया गया है।

स्वास्थ्य महानिदेशक डा० बहुगुणा ने राज्य में ओमिक्रोन ग्रसित मरीजों के पाये जाने को लेकर सभी चिकित्सालयों को अलर्ट पर रहने तथा बचाव एवं नियंत्रण की सभी तैयारियों को मुस्तैद रखने के निर्देश दिए गए हैं। महानिर्देशक ने आमजन से अपील की है कि वह कोविड अनुरूप व्यवहार का अनुपालन अनिवार्य रूप से करते रहे और मीड़-माढ़ वाले स्थानों पर न जाए मास्क का प्रयोग अवश्य करे तथा सर्दी जुखाम होने पर चिकित्सक को दिखाए किसी प्रकार की भी लापरवाही न बरतें।

Leave your comment

Your email address will not be published.