यहां की पुलिस चाहती है कि नशे का कारोबार चलता रहे: प्रवीण शर्मा

पुलिस की निष्क्रियता पर उठे सवाल

हरिद्वार (संवाददाता- अरुण कश्यप): प्रेस क्लब में आयोजित प्रेस वार्ता के दौरान जानकारी देते हुए संगठन के प्रवीण शर्मा ने बताया कि नशे के कारोबार ने युवा वर्ग को पूरी तरह बर्बादी की ओर धकेल दिया है। शहर भर में 16 से 25 वर्ष तक के युवा इसका शिकार होकर अपना जीवन समाप्त कर रहे हैं। एन.सी.बी. द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार हर रोज करीब 21 मौत स्मैक के नशे के कारण होती है। प्रवीण शर्मा ने बताया कि हमने पिछले वर्ष 26 सितंबर, 22 सितंबर, 2 अक्टूबर और 24 अक्टूबर को शहर भर के लोगों से हस्ताक्षर कराकर, नशे के खिलाफ अभियान चलाया था।

शहर में फैले नशे के कारोबार के खिलाफ युवा जागृति विचार मंच 7 जनवरी से निराहार सत्याग्रह का अभियान चलाएगा

वहीं पुलिस पर आरोप लगाते हुए प्रवीण शर्मा ने बताया कि पुलिस इस ओर बिल्कुल भी गंभीर नहीं है, उन्होंने बताया कि महीनों पहले पुलिस द्वारा जो हेल्पलाइन नंबर जारी किया था,  उसे अब तक एक्टिवेट नहीं कराया गया है। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि हरिद्वार पुलिस नशे की रोक थाम के लिए कितनी सजग है, प्रेस वार्ता के दौरान मनीष चौहान ने बताया कि जब पुलिस हत्या, लूट, डकैती जैसी घटनाओं का खुलासा आसानी से कर सकती है, तो नशे के तस्करों और बड़े माफियाओं को पकड़ पाने में असमर्थ क्यों हो जाती है, ऐसा लगता है कि पुलिस जानबूझकर नशे का कारोबार चलाते रहना देना चाहती है, उन्होंने कहा कि नशा मुक्ति केंद्र के नाम पर भी सरकार  जीरो साबित हुई है। आगामी निराहार सत्याग्रह के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि यह सत्याग्रह शहर के अलग-अलग जगहों पर किया जाएगा और अनिश्चित काल तक जारी रहेगा। इस दौरान रजत त्रिपाठी, हिमांशु राजपूत भी उपस्थित रहे।

https://devbhoominews.com Follow us on Facebook at https://www.facebook.com/devbhoominew…. Don’t forget to subscribe to our channel https://www.youtube.com/channel/UCNWx

Leave a Reply

Your email address will not be published.