शारदीय नवरात्र 2022 :  46 वें कुंजापुरी पर्यटन विकास मेले का शुभारंभ

Sharadiya Navratri 2022
Sharadiya Navratri 2022

Sharadiya Navratri 2022

शारदीय नवरात्र के अवसर पर प्रसिद्ध सिद्धपीठ कुंजापुरी के मंदिर में पूजा अर्चना के बाद देशभक्ति से ओतप्रोत व विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों पर आधारित भव्य झाँकियों के साथ नरेन्द्रनगर के पालिका मैदान में प्रथम नवरात्रि से 46 वें कुंजापुरी पर्यटन एवं विकास मेले का शुभारंभ।

Sharadiya Navratri 2022
Sharadiya Navratri 2022

शारदीय नवरात्र के अवसर पर 26 नवंबर से 3 अक्टूबर तक आयोजित होने वाले 46 वें कुंजापुरी पर्यटन एवं विकास मेले का उद्घाटन प्रदेश के वन मंत्री सुबोध उनियाल ने किया, मुख्य अतिथि व विशिष्ट अतिथि ने मेले में लगे विभिन्न विभागों के इस्टालों का फीता काटकर उद्घाटन किया।
खास बात यह थी कि टिहरी के जिला अधिकारी रहे सुरेंद्र सिंह पाँगती इस मेले के विशिष्ट अतिथि थे, जिन्होंने वर्ष 1974 में इस मेले को बड़े स्तर पर आयोजित करने की नींव रखी थी, मेले के मुख्य अतिथि सुबोध उनियाल के कहने पर विशिष्ट अतिथि पाँगती द्वारा मेले की घोषणा के साथ ध्वज फहराया गया।

Sharadiya Navratri 2022

Sharadiya Navratri 2022
Sharadiya Navratri 2022

इस मौके पर प्राथमिक,हाई स्कूल, इंटरमीडिएट कॉलेज, डिग्री कॉलेज के विद्यालयों के छात्र-छात्राओं द्वारा देशभक्ति से ओतप्रोत व विभिन्न सांस्कृतिक धरोहरों पर आधारित झलकियों से भरपूर मनमोहक झांकियों का मेले में उपस्थित भारी संख्या में दर्शकों ने भरपूर आनंद उठाया,इस मौके पर क्षेत्रीय विधायक व प्रदेश के वन तथा तकनीकी शिक्षा मंत्री सुबोध उनियाल ने कहा कि मेले हमारी संस्कृति और सभ्यता की धरोहर हैं, इन्हें अक्षुण्ण बनाए रखना हम सब का कर्तव्य है,
उन्होंने कहा कि श्री कुंजापुरी पर्यटन एवं विकास मेला क्षेत्र के विकास से भी जुड़ा है, कहा कि इस मेले के माध्यम से यहां मेला का उद्घाटन करने आए मुख्यमंत्रियों द्वारा प्रदेश का संस्थान पीटीसी तथा नरेंद्रनगर रानीपोखरी रोड जैसे महत्वपूर्ण कार्यों की घोषणा होने के बाद, आज इनका लाभ उठाया जा रहा है।

Sharadiya Navratri 2022
Sharadiya Navratri 2022

वहीं कार्यक्रम में मौजूद पूर्व आईएएस सुरेन्द्र सिंह पांगती ने कहा कि सन् 1962 – 63 के दौरान जब मैं टिहरी जनपद का डीएम था तो उसी दौरान मैंने इस मेले की नींव रखी थी जो आज प्रदेश स्तर पर बड़े धूमधाम से मनाया जाने वाला मेला बन गया है, कुंजापुरी पर्यटन विकास मेले में क्रिकेट, वॉलीबॉल, कबड्डी, मैराथन रेस, टेबल टेनिस सहित डेढ़ दर्जन खेल आयोजित किए जाते हैं और रात्रि को रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों का लोग लुफ्त उठाते हैं।
नवरात्रों के दौरान हजारों की संख्या में श्रद्धालु भक्तजन मां कुंजापुरी सिद्ध पीठ मंदिर जाकर मन्नते मांगते हैं, और कहा जाता है कि जो सच्चे मनोभावों से कुंजापुरी मंदिर जाते हैं ऐसे श्रद्धालुओं की मन्नतें पूरी होती हैं।

ये भी पढे़ं : नवरात्रि पूजा: कन्याओं को पूजने वाले देश में यह भेदभाव क्यों?पूरे देश में कमोवेश एक जैसा हाल