देहरादून, ब्यूरो। उत्तराखंड की राजधानी देहरादून के करनपुर में एक निर्माणाधीन मकान में दो माह पहले हुई वन विभाग के रिटायर्ड अफसर की हत्या करने वाला युवक एक दिन पहले डालनवाला पुलिस ने राजस्थान से अरेस्ट कर लिया है। युवक ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि रिटायर्ड अफसर सुरेंद्र जायसवाल उसे पैसे का लालच देकर कुकर्म (अप्राकृतिक संबंध) करता था। इससे तंग आकर उसने बुजुर्ग का गला बैग की ही रस्सी से घोंटकर मार डाला। पुलिस ने बुजुर्ग की हत्या के वक्त शव के पास से ही एक बैग भी बरामद किया था। पहले पुलिस को हत्या का शक आस-पास के मजदूरों पर हुआ, लेकिन इसके बाद मौके से पुलिस को एक युवक सीसीटीवी कैमरे में जाता दिखा।

पुलिस करीब दो माह से हत्या के आरोपी की तलाश में जुटी थी और आरोपी पर 25000 का ईनाम भी रखा गया था। कुछ दिन पहले ही देहरादून के डालनवाला इंस्पेक्टर एनके भट्ट और उनकी टीम को सूचना मिली कि हत्यारोपी युवक राजस्थान में रह रहा है। शनिवार को पुलिस टीम राजस्थान के भिवाड़ी पहुंची और युवक को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में उसने अपना नाम राहुल कुमार निवासी नगला फौजदार, बहज, भरतपुर बताया।

हत्यारोपी युवक ने बताया कि बुजुर्ग सुरेंद्र जायसवाल से उसकी करीब सात साल पहले मुलाकात वृंदावन के गोवर्धन में हुई थी। बताया कि वह नशे का आदी था और खर्च के पैसे भी उसके पास नहीं रहते थे। इस पर जायसवाल ने उसे लालच दिया कि वह उनके साथ गलत काम करे। कभी जायसवाल उसके पास जाता तो कभी राहुल को ही दून बुला लेता था। एक बार राहुल ने जायसवाल से संपर्क बंद करने की ठान ली, लेकिन आरोप है कि बुजुर्ग नहीं माने और राजस्थान पहुंच गए। यहां उन्होंने राहुल को ब्लैकमेल किया कि अगर वह उनके साथ यह काम नहीं करेगा तो वह परिजनों को सब बता देंगे। हत्यारोपी युवक ने बताया कि साल की शुरुआत में वह काम की तलाश में हरिद्वार आया था। 30 मार्च को जायसवाल ने राहुल को बुलाया और फिर से गलत काम करवाया। एक अप्रैल की पूरी रात कथित तौर पर बुजुर्ग ने इस तरह की हरकतें की तो वह तंग आ गया और जायसवाल की बैग की तनी से गला घोटकर हत्या कर दी।