160 किमी की रफ्तार से दिल्ली-मेरठ के बीच दौड़ेगी ये रैपिड ट्रेन, पहुंचा पहला ट्रेन सेट

0
368
160 किमी की रफ्तार से दिल्ली-मेरठ के बीच दौड़ेगी ये रैपिड ट्रेन, पहुंचा पहला ट्रेन सेट

160 किमी की रफ्तार से दिल्ली-मेरठ के बीच दौड़ेगी ये रैपिड ट्रेन, पहुंचा पहला ट्रेन सेट

मेरठ, ब्यूरो। जल्द ही भारत में रैपिड ट्रेन दौड़ने लगेगी। इसके लिए तैयारियां करीब-करीब पूरी कर ली गई है। इस ट्रेन का पहला सेट आज सोमवार को गुजरात से राजस्थान और हरियाणा की सीमाओं से होते हुए उत्तर प्रदेश के दुहाई डिपो पहुंच चुका है। यह ट्रेन मेट्रो से भी तेज करीब 160 किमी की रफ्तार से दिल्ली और मेरठ के बीच करीब आठ लाख लोगों को इधर से उधर छोड़ेगी। यह ट्रेन हर पांच या 10 मिनट के अंतराल में दिल्ली और मेरठ के बीच दौड़ती रहेगी। इसके डिब्बे और पाट्र्स का सेट आज दुहाई पहुंच चुका है। अब इसे यहीं पर असेम्बल किया जा रहा है और ट्रायल के लिए ट्रैक भी तैयार कर दिया गय है।

एनसीआरटीसी के अधिकारियों का कहना है कि रैपिड ट्रेन के कोच पहुंचने के बाद दुहाई डिपो पर टेस्टिंग शुरू की जाएगी। इसके पश्चात ट्रायल रन शुरू किया जाएगा। मार्च 2023 में साहिबाबाद से दुहाई डिपो के बीच पहली रैपिड ट्रेन को चलाने की तैयारी है। रैपिड रेल कारिडोर के प्राथमिक खंड में ट्रैक बिछाने, ओएचई लगाने समेत अन्य काम लगभग अंतिम दौर में है। बता दें कि रीजनल रैपिड ट्रांजिट सिस्टम (आरआरटीएस) के दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ कारिडोर पर दो तरह की रेल चलेंगी, एक रेल मोदीपुरम से बेगमपुल, परतापुर होते हुए दिल्ली के सरायकाले खां तक चलेगी, जिसका नाम है रैपिड रेल यानी आरआरटीएस। दूसरी रेल मोदीपुरम से बेगमपुल होते हुए परतापुर तक चलेगी जिसका नाम है मेरठ मेट्रो यानी एमआरटीएस। रैपिड रेल की कुल संख्या 30 रहेगी जो हर पांच से 10 मिनट के अंतराल पर 160 किमी की गति से आती जाती रहेंगी।

rapid

160 किमी की रफ्तार से दिल्ली-मेरठ के बीच दौड़ेगी ये रैपिड ट्रेन, पहुंचा पहला ट्रेन सेट

दरअसल, आज भारत के पहले आरआरटीएस का पहला ट्रेनसेट मेरठ के दुहाई डिपो पहुंचा है। इस ट्रेनसेट को गुजरात के सावली में स्थित मेन्यूफैक्चरिंग प्लांट से ट्रेलर पर लाद कर सड़क मार्ग द्वारा लाया गया है। सावली, गुजरात से दुहाई डिपो पहुंची ट्रेनसेट के छह डिब्बे अलग-अलग ट्रेलर पर लाद कर लाए गए हैं। दुहाई डिपो पहुंचने के बाद इन्हें क्रेन की सहायता से उतारा गया।