केदारनाथ में पुलिस प्रशासन की व्यवस्था हुई ध्वस्त, NDRF और ITBP ने संभाली कमान

0
352

रुद्रप्रयाग। केेदारनाथ धाम में पुलिस प्रशासन की व्यवस्था पर सवाल उठने के बाद आईटीबीपी और एनडीआरएफ को कमान सौंप दी गई है। अब यात्रा मार्गो से लेकर केदारनाथ धाम में आईटीबीपी और एनडीआरएफ के जवान तैनात रहेंगे, जो तीर्थयात्रियों की हरसंभव मदद करेंगे। वैसे भी लम्बे समय से केदारनाथ यात्रा में आईटीबीपी के जवानों की तैनाती की मांग की जा रही थी। केदारनाथ विधायक भी यही चाहती थी कि केदारनाथ धाम में आईटीबीपी के जवानों की तैनाती की जाए और बार-बार सरकार से केदारनाथ में आईटीबीपी जवानों की तैनाती की मांग भी कर रही थी, जिससे सुव्यवस्थित तरीके से केदारनाथ की यात्रा संचालित हो सके।

kedarnath

बता दें कि केदारनाथ धाम यात्रा में भारी संख्या में श्रद्धालुओं के पहुंचने से अव्यवस्था फैल गई है, जिस कारण पुलिस प्रशासन व्यवस्थाओं को संभालने में नाकाम दिखाई दे रहा है। इससे पहले वर्ष 2019 की केदारनाथ यात्रा में भी हर दिन हजारों की संख्या में तीर्थयात्री पहुंचे थे और उस समय भी पुलिस प्रशासन की नाकामी देखने को मिली थी और आईटीबीपी के जवानों को केदारनाथ यात्रा में तैनात किये जाने की मांग की जा रही थी, लेकिन ऐसा नहीं किया गया। इस बार शुरूआत से ही हजारों की तादात में तीर्थयात्री धाम पहुंच रहे हैं, जबकियात्रा के सातवें दिन ही केदारनाथ यात्रा का आंकड़ा 1 लाख 32 हजार पार कर चुका है, जबकि अभी भी लाखों लोगों ने केदारनाथ धाम जाने के लिए आॅनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाया है।

jay baba kedarnath

केदारनाथ में बढ़ रही यात्रियों की संख्या और पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठने के बाद आखिरकार आईटीबीपी के जवानों को तैनात कर दिया गया है। अभी केदारनाथ और यात्रा मार्गो पर आईटीबीपी के 90 जवानों को तैनात किया गया है, जबकि एनडीआरएफ के 46 जवान भी जल्द यात्रा मार्गो पर तैनात किये जायेंगे। जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी नन्दन सिंह रजवार ने बताया कि यात्रियों की सुरक्षा और यात्रा व्यवस्था के लिए आईटीबीपी की एक प्लाटून को तैनात कर दिया गया है।

ndrf

यह प्लाटून मंदिर परिसर और मंदिर मार्ग पर दर्शनों के लिए खड़े यात्रियों की मदद करेगी। एक प्लाटून में 30 आईटीबीपी के जवान हैं। वहीं, सोनप्रयाग और गुप्तकाशी में भी एक-एक प्लाटून को रखा गया है। इसके अलावा पुलिस, एसडीआरएफ, डीडीआरएफ, यात्रा मैनेजमैंट फोर्स के जवान पहले से तैनात हैं। उन्होंने बताया कि जल्द ही एनडीआरएफ के जवान भी यात्रा मार्गो पर तैनात कर दिये जायेंगे।

केदारनाथ में पुलिस प्रशासन की व्यवस्था हुई ध्वस्त, NDRF और ITBP ने संभाली कमान