उधम सिंह नगर, ब्यूरो :  जिले के सितारगंज में नशा मुक्ति केंद्र में भर्ती युवक की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत होने से हड़कंप मचा गया है । युवक ने परिजनों ने केंद्र संचालक पर मारपीट और हत्या करने का गंभीर आरोप लगाया है। बताया जा रहा है कि मृतक शरीर पर चोट के कई निशान मिले हैं।

बता दें कि चकरपुर के रहने वाले व्यापारी लक्ष्मी दत्त कापड़ी ने अपने बेटे सूरज कापड़ी को 15 मई को सितारगंज के एक नशा मुक्ति केंद्र में भर्ती कराया था। वहीं बिते दिन शनिवार को उन्हे फोन आया कि उनके बेटे सूरज की तबीयत खराब है, और उसे उल्टियां हो रही है। जिसे स्थानीय अस्पताल में इलाज कराने के बाद पीलीभीत ले जाया जा रहा है। वहीं शाम करीब चार बजे एक एंबुलेंस से नशा मुक्ति केंद्र के दो युवक सूरज का शव लेकर घर पहुंचे। उन युवकों का कहना था कि सूरज  की पीलीभीत के अस्पताल में मौत हो गई है। वहीं परिजनों को शव सौंपने के बाद दोनों युवक सूरज के घर से चले गए।

पीड़ित परिजन अब मदद की गुहार लगा रहे हैं। पीड़ित परिजनों का कहना है कि केंद्र संचालक ने उनके बेटे के साथ मारपीट की है। क्योंकि उसके शरीर में चोट के कई निशान मिले हैं। आज रविवार को उसके शव का  डॉ.प्रदीप चौधरी और डॉ.अमित बंसल के पैनल ने पोस्टमार्टम कराया है। जिसके बाद शव को घर लाया गया। लेकिन मौत के रहस्य से अभी भी पर्दा नहीं हट सका है। चिकित्सकों का कहना है कि मौत के कारणों का पता नहीं चल सका है। इसलिए उसका बिसरा सुरक्षित रखा गया है। हालांकि उसके शरीर पर चोटों के निशान जरूर पाए गए हैं।