Home धार्मिक कथाएं 15 जून को कैंची धाम का स्थापना दिवस, मेले की तैयारी के...

15 जून को कैंची धाम का स्थापना दिवस, मेले की तैयारी के लिए पुलिस ने जारी किया ये ट्रैफिक प्लान

0
KAINCHI DHAM MELA

DEVBHOOMI NEWS DESK: विश्व प्रसिद्ध तीर्थ स्थल कैंची धाम का 60वां स्थापना दिवस 15 जून को भव्य रूप से मनाया जाएगा। इस दिन धाम में मेले (KAINCHI DHAM MELA) का भी आयोजन किया जा रहा है। मेले में होने वाली श्रद्धालुओं की भीड़ को देखते हुए जिला व पुलिस प्रशासन ने भी तैयारियां पूरी कर ली हैं। इस दौरान पुलिस ने विशेष यातायात प्लान जारी कर दिया है। ये नया ट्रैफिक प्लान 14 जून को दोपहर दो बजे के बाद लागू कर दिया जाएगा। यातायात डाईवर्जन के अलावा मेले के दौरान कैंची धाम के लिए श्रद्धालुओं को विभिन्न पार्किंग स्थलों से शटल सेवा के माध्यम से लाया जाएगा।

KAINCHI DHAM MELA
KAINCHI DHAM MELA

KAINCHI DHAM MELA: ये रहेगा यातायात प्लान

  • अल्मोड़ा, बेतालघाट, रानीखेत, खैरना से हल्द्वानी जाने वाले वाहनों को क्वारब से शीतला, धानाचूली खुटानी होते हुए भीमताल को भेजा जाएगा।
  • रामनगर कालाढूंगी से कैंचीधाम जाने वाले वाहन रुसी ज्योलीकोट होते हुए मस्जिद तिराहा भवाली तक जाएंगे।
  • भवाली से नैनीताल आने वाले वाहन ज्योलीकोट नंबर एक बैंड से रुसी होते हुए नैनीताल आयेंगे।
  • नैनीताल से दिल्ली, हरियाणा, यूपी व अन्य मैदानी क्षेत्र को जाने वाले पर्यटक कालाढूंगी मार्ग से जायेंगे।
  • कालाढूंगी से नैनीताल आने वाला यातायात रुसी से होते हुए आयेगा।
  • नारायण नगर से आगे वाहनों को प्रवेश नहीं दिया जाएगा, जहां से शटल सेवा के माध्यम से ही लोगों को नैनीताल भेजा जाएगा।(KAINCHI DHAM MELA)
  • हल्द्वानी से अल्मोड़ा व पहाड़ को जाने वाले वाहनों को खुटानी से धानाचूली होते हुए भेजा जाएगा।
  • भवाली से दिल्ली, हरियाण, यूपी, काशीपुर, बाजपुर जाने वाले वाहन वाया ज्योलीकोट रुसी से होते हुए कालाढूंगी मार्ग से जायेंगे।
KAINCHI DHAM MELA

ये है पार्किंग की व्यवस्था

  • ज्योलीकोट व नैनीताल की ओर से भवाली आने वाले वाहनों को मस्जिद तिराहा से नैनी बैंड बाइपास, सेनेटोरियम से रातीघाट बाइपास व मस्जिद तिराहे से नैनीताल रोड में एक तरफ पार्क करवाया जाएगा।
  • भीमताल की ओर से आने वाले वाहनों को रामलीला मैदान भवाली, नैनी बैड से मस्जिद तिराहा बाइपास, विकास भवन मैदान भीमताल, ग्राफिक एरा मैदान व भीमताल थाने व मत्स्य विभाग के समीप पार्क कराया जाएगा।
  • दोपहिया वाहनों को भारत माता पार्किंग भवाली, परिवहन निगम की चौराहे पर स्थित पार्किंग, सेनेटोरियम, पेट्रोल पंप, जीबी पंत स्कूल के समीप पार्किंग में पार्क करवाया जाएगा।
  • कैंची धाम में श्रद्धालुओं की संख्या साल दर साल बढ़ती जा रही है। इसके विपरीत सड़क सुविधा, पार्किंग और अन्य संसाधन सीमित हैं। कैंची धाम में महज 200 वाहनों की ही पार्किंग है। ऐसे में इंट्री प्वाइंट पर वाहनों को रोककर शटल सेवा के जरिये श्रद्धालुओं को भेजने की व्यवस्था की जाती है।(KAINCHI DHAM MELA)

देवभूमि उत्तराखंड से जुड़ी हर खबर और जानकारी के लिए क्लिक करें-देवभूमि न्यूज

Exit mobile version