देहरादून, ब्यूरो। हरक सिंह रावत को कांग्रेस से निष्कासित किए जाने के बाद कांग्रेस के कद्दावर नेता और पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत का एक बड़ा बयान सामने आया है जिसमें उन्होंने कहा कि अगर हरक सिंह रावत 2016 में कांग्रेस पार्टी छोड़ने की गलती मान लेते हैं तो उनका पार्टी स्वागत करने के लिए तैयार है। कुछ भी कहो हरक सिंह रावत के लिए कांग्रेस के दरवाजे वैसे हाईकमान स्तर से खोल दिए गए हैं। औपचारिक तौर पर उनसे हरीश रावत माफी मांगने की बात कर रहे हैं। इसके अलावा पूर्व सीएम हरीश रावत ने यह भी कहा कि हरक सिंह अभी पार्टी में विधिवत रूप से शामिल नहीं हुए हैं। हरक सिंह रावत को भाजपा से निष्कासित करने की खबरों के बाद राजनीतिक गलियारों में कई दिनों से हलचल मची हुई है।

YOU MAY ALSO LIKE

कहीं न कहीं हरक सिंह रावत कांग्रेस से अपनी मर्जी की सीट से चुनाव लड़ने के साथ कई अन्य चहेतों को भी प्रत्याशी घोषित करवाना चाहते हैं। ऐसे में भाजपा ने उनकी मांगों को ठुकरा दिया था। साथ ही कोटद्वार से चुनाव न लड़ने की बात पर भी हरक सिंह अड़ गए थे। भाजपा ने अंतिम समय तक उन्हें मनाया लेकिन फिर भी हरक सिंह भाजपा छोड़ कांग्रेस की शरण में चल दिए हैं। अब देखना होगा कि कांग्रेस उनकी कितनी मांगों को पूरा करते हैं और हरीश रावत और हरक सिंह के बीच आपसी मतभेद के साथ बगावत और भीतरघात कैसे पार्टी दूर करेगी यह भी देखना होगा।

uttarakhand

फिलहाल कांग्रेस के दिग्गल और प्रदेश चुनाव के कर्ताधर्ता हरीश रावत ने हरक सिंह से पुरानी गलती के लिए माफी मांगने को कहा है। उनका कहना है कि अगर वह पूर्व में कांग्रेस छोड़ने की गलती मान लेते हैं तो कांग्रेस पार्टी उनका स्वागत करती है। आपको बता दें कि कई दिनों से हरक सिंह रावत के कांग्रेस में शामिल होने की खबरों का बाजार गर्म है। कल देर रात भाजपा ने इस मामले में आग में घी डालने का काम किया और हरक सिंह को भाजपा से निष्कासित कर दिया। अब साफ है कि हरक सिंह कांग्रेस में ही जाएंगे और पार्टी कब ज्वाइन करेंगे और कितनी प्रेसर पाॅलटिक्स भाजपा की तरह यहां भी जारी रखेंगे भविष्य के गर्भ में है।

Leave your comment

Your email address will not be published.