Cryptocurrency crash: भारत सरकार की इस घोषणा के बाद क्रिप्टोकरेंसी में भारी गिरागट

Cryptocurrency में आई भारी गिरागट

न्यूयॉर्क स्थित समाचार साइट कॉइनडेस्क से प्राप्त आंकड़ों के अनुसार, बिटकॉइन की कीमतें मंगलवार शाम 13 अक्टूबर के बाद से अपनी सबसे कम दरों पर गिर गईं। इस गिरावट के पीछे कई कारण बताए जा रहे है। वेबसाइट के अनुसार, बिटकॉइन का मूल्य कल शाम $55,460.96 तक गिर गया, जो नवंबर के शुरूआती दिनों में लगभग $69,000 तक गया था।

Cryptocurrency crash: भारत सरकार की क्रिप्टोकरेंसी को बैन करने की तैयारी

भारत में क्रिप्टोकरेंसी के संबंध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा एक उच्च-स्तरीय समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करने के कुछ दिनों बाद, केंद्रीय मंत्रिमंडल ने संसद के शीतकालीन सत्र में ‘द क्रिप्टोक्यूरेंसी एंड रेगुलेशन ऑफ ऑफिशियल डिजिटल करेंसी बिल, 2021’ पेश करने के लिए  सूचीबद्ध किया है।

भारत सरकार क्रिप्टोकरेंसी पर शिकंजा कसने की तैयारी में है. सभी निजी क्रिप्टोकरेंसीज को बैन किया जा सकता है. सरकार संसद के शीतकालीन सत्र में इस बारे में बिल लेकर आ रही है. ऐसी खबरें आते ही मंगलवार को सभी प्रमुख क्रिप्टोकरेंसी में एक बड़ी गिरावट देखने को मिली।

रिपोर्टों के अनुसार, बिल भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा जारी की जाने वाली आधिकारिक डिजिटल मुद्रा के निर्माण के लिए एक रूपरेखा की सुविधा प्रदान की जाएगी। 

यह भारत में सभी निजी क्रिप्टोकरेंसी को प्रतिबंधित करने का भी प्रयास करता है, कुछ अपवादों को क्रिप्टोकरेंसी की अंतर्निहित तकनीक और इसके उपयोग को बढ़ावा देने की अनुमति देता है।

निवेशकों को भ्रामक दावों के साथ लुभाने के लिए देश में ऐसी डिजिटल मुद्राओं के कथित दुरुपयोग पर बहस के बीच क्रिप्टोकरेंसी विधेयक पेश किया गया है।

इस महीने की शुरुआत में, पीएम मोदी ने कहा था कि सभी लोकतांत्रिक देशों को क्रिप्टोकरेंसी पर एक साथ काम करने और यह सुनिश्चित करने की जरूरत है कि यह गलत हाथों में न जाए। उन्होंने यह भी बताया कि अति-आशाजनक और गैर-पारदर्शी विज्ञापन द्वारा युवाओं को गुमराह करने का प्रयास किया जा रहा है, जिसे रोकने की आवश्यकता है। वर्चुअल करेंसी का उदाहरण देते हुए पीएम मोदी ने कहा, “उदाहरण के लिए क्रिप्टोकरेंसी या बिटकॉइन को लें। यह जरूरी है कि सभी देश मिलकर इस पर काम करें और सुनिश्चित करें कि यह गलत हाथों में न जाए।

भले ही कई निजी प्रतिष्ठानों ने क्रिप्टोकरंसी को एक आकर्षक निवेश विकल्प के रूप में पेश किया है, भारतीयों के एक बड़े हिस्से ने अत्यधिक अस्थिर डिजिटल मुद्राओं में निवेश किया है, एक ऐसा बाजार जो अभी तक सरकार द्वारा विनियमित नहीं है।

Leave your comment

Your email address will not be published.