यहां कोरोना के मामलों में हर दिन हो रही है बढ़ोत्तरी

रुद्रप्रयाग (संवाददाता- नरेश भट्ट): रुद्रप्रयाग जिले में कोरोना के मामलों में लगातार वृद्धि हो रही है। हर दिन दस से पन्द्रह केस कोरोना के सामने आ रहे हैं, जिससे लोगों में एक बार फिर से

YOU MAY ALSO LIKE

दहशत माहौल बन गया है। वहीं कोरोना को लेकर लोगों में जागरूकता की कमी दिख रही है। मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग के प्रति लोग सजग नहीं दिख रहे हैं। यही कारण है कि जिले में वर्तमान में कोरोना के मामलों में लगातार इजाफा हो रहा है। जिलाधिकारी मनुज गोयल ने भी जनपद वासियों से अपील करते हुए कहा कि वर्तमान समय में कोविड-19 संक्रमण का नया वैरिएंट “ओमिक्रोन” बड़ी तेजी से फैल रहा है, जिसके लिए सभी को सतर्कता एवं सावधानी बरतना नितांत आवश्यक है।

बता दें कि जनपद रुद्रप्रयाग में हर दिन केस आ रहे हैं। वर्तमान में विभिन्न क्षेत्रों में कोरोना के 150 एक्टिव केस हैं, जिनमें चार लोग अस्पताल में भर्ती हैं तो अन्य होम आइशोलेशन में है। कोरोना की चपेट में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ बीके शुक्ला के साथ ही अन्य अधिकारी भी आ चुके हैं, जिस वजह से वे घरों में कैद हैं। हर दिन जिले में दस से पन्द्रह केस आ रहे हैं। कोरोना महामारी के बढ़ते केसों के कारण लोगों में एक बार फिर से भय बना हुआ है।

बीपी, सुगर, बॉडी पेन, तेज बुखार, खांसी सहित अन्य बीमारी से ग्रसित लोगों में कोरोना संक्रमण ज्यादा फैल रहा है, जिससे उन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया है। जिले के सीएमओ के साथ ही दो अन्य डॉक्टर चार दिनों से कोरोना संक्रमण के चलते घरों में होम आइसोलेट हैं। कोरोना के केस बढ़ने के बाद जिला प्रशासन भी सजग हो गया है। जिले की सीमाओं पर सैम्पलिंग की जा रही है और जिस मरीज की रिपोर्ट पॉजिटिव आ रही है, उन्हें चैकअप के लिए बुलाने के बाद होम आइसोलेशन की सलाह देने सहित गंभीर मरीजों को भर्ती किया जा रहा है। डॉ आशुतोष ने बताया कि जिले में कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं। ऐसे में लोगों को सतर्कता बरतने की सलाह दी जा रही है। उन्होंने बताया कि कोविड को लेकर जगह-जगह लोगों को जागरूक करने का कार्य शुरू हो गया है। बताया कि लोगों के सैम्पल लेने के बाद आरटीपीसीआर के लिए श्रीनगर मेडिकल कॉलेज भेजा जा रहा है और जिन लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आ रही है। उनकी रिपोर्ट फिर दून मेडिकल कॉलेज भेजी जा रही है, जिससे पता लग सके कि उक्त व्यक्ति को कहीं नया वैरिएंट “ओमिक्रोन“ तो नहीं है।

उन्होंने बताया कि 15 से 18 वर्ष के 90 प्रतिशत बच्चों पर पहली डोज लग चुकी है, जबकि 18 प्लस के लोगों पर 85 प्रतिशत दूसरी डोज लगाई जा चुकी है। वहीं जिलाधिकारी मनुज गोयल ने जनपद वासियों से अपील करते हुए कहा कि वर्तमान समय में कोविड-19 संक्रमण का नया वैरिएंट “ओमिक्रोन“ बड़ी तेजी से फैल रहा है, जिसके लिए सभी को सतर्कता एवं सावधानी बरतना नितांत आवश्यक है। कहा कि सरकार द्वारा जारी गाइड लाइन एवं दिशा-निर्देशों का अनिवार्य रूप से पालन करते हुए अपनी व अपनों की सुरक्षा के लिए यह जरूरी है कि सभी को सोशल डिस्टेंसिंग, सैनिटाइज एवं मास्क का प्रयोग करना अनिवार्य है तथा सभी के सहयोग से ही कोरोना संक्रमण को आम जनमानस में फैलने से रोका जा सकता है। उन्होंने सभी राजनीतिक दलों से भी अपेक्षा करते हुए कहा कि वर्तमान में विधानसभा चुनाव के प्रचार-प्रसार के लिए निर्वाचन आयोग द्वारा जारी कोविड-19 संक्रमण की गाइडलाइन एवं दिशा-निर्देशों के अनुसार चुनाव गतिविधियां संचालित की जांए। उन्होंने सभी से आपदा प्रबंधन अधिनियम की गाइडलाइन का भी अनिवार्य रूप से पालन करने को कहा।        

Follow us on our Facebook Page Here and Don’t forget to subscribe to our Youtube channel Here

Leave a Reply

Your email address will not be published.