देहरादून (संवाददाता): विगत सोमवार को हालांकि दो दिन के मुकाबले कोरोना के मामलों में गिरावट देखने को मिली, लेकिन फिर भी यह छोटे से प्रदेश के लिए चिंताजनक है। उत्तराखंड में रोज हजारों की संख्या में पाॅजीटिव केस आ रहे हैं। सबसे ज्यादा मामले देहरादून में ही दर्ज किए जा रहे हैं। इसके अलावा नैनीताल, पौड़ी, अल्मोड़ा, पिथौरागढ़ आदि पहाड़ी इलाकों में कोरोना की दस्तक कहीं न कहीं शासन-प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की पेशानी पर बल डाल रहा है। वहीं, आज के मामलों की बात करें तो पूरे राज्य में 4482 केस दर्ज किए गए हैं। वहीं, 6 लोगों की मौत भी हुई है। देखिए विस्तृत हेल्थ बुलेटिन….

devbhoomi

आपको बता दें कि उत्तराखंड में नए साल के पहले महीना आधे से ज्यादा बीत गया है। इस दौरान कोरोना की बात अगर की जाए तो रोज हजोरों में मामले सामने आ रहे हैं। हालांकि दो दिन कम मामले दर्ज किए गए। राज्य में रोज तकरीबन तीन हजार नए पाॅजीटिव केस किए जा रहे हैं। विगत रविवार को कोरोना के नए मामले 2600 से अधिक थे। वहीं इससे एक-दो दिन पहले मामले 3500 से अधिक आए थे। दूसरी ओर उत्तराखंड में ओमिक्राॅन के मामले भी बढ़ रहे हैं। दो दिन पहले जारी की गई एक रिपोर्ट के अनुसार 85 नए ओमिक्राॅन पाॅजीटिव केस उत्तराखंड में आए हैं। उत्तराखंड की राजधानी कोरोना मामलों की हाॅटस्पाॅट बन चुकी है। यह देश के विभिन्न बड़े राज्यों के साथ ही अंतर्राष्ट्रीय स्तर से भी लोग यहां आते-जाते रहे हैं। पिछले साल भी एफआरआई में सबसे पहले कोरोना के मामले सामने आए थे। सिर पर चुनाव हैं, ऐसे में शासन-प्रशासन और चुनाव आयोग इससे कैसे निपटेगा यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा लेकिन फिलहाल स्थिति चिंताजनक बनी हुई है।

Leave your comment

Your email address will not be published.