भाजपा नेताओं में लाॅबिंग जारी, भाजपा हाईकमान कल करेगा फैसला

देहरादून, ब्यूरो। उत्तराखंड में अगला मुख्यमंत्री कौन होगा यह संशय अभी बरकरार है। एक दिन बाद पार्टी इसका फैसला सबके सामने रख सकती है। मुख्यमंत्री पद की दौड़ में जहां कार्यवाहक सीएम पुष्कर सिंह धामी से लेकर हर मंत्री शामिल हैं। वहीं, सूत्रों की मानें तो भाजपा हाईकमान किसी नए चेहरे को उत्तराखंड के सीएम पद की कमान सौंप सकती है। सीएम पद की दौड़ में उत्तराखंड भाजपा प्रदेश महामंत्री सुरेश भट्ट का नाम सबसे आगे बताया जा रहा है। सुरेश भट्ट पहले भाजपा के हरियाणा प्रदेश महामंत्री भी रहे। उन्होंने हरियाणा में भाजपा को दो बार चुनाव जिताने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। यही नहीं वह पीएम मोदी और गृह मंत्री अमित शाह के काफी करीबी बताए जाते हैं।

भाजपा हाईकमान पहले ही कह चुका है कि सांसदों में से कोई सीएम चेहरा नहीं होगा। भाजपा उत्तराखंड में अगर सुरेश भट्ट को नया सीएम बनाती है तो कहीं न कहीं कालाढूंगी विधायक वंशीधर भगत को राज्यसभा भेजकर वहां खाली होने वाली सीट पर सुरेश भट्ट को उपचुनाव लड़वा सकती है। हालांकि यह कहना अभी अतिश्योक्ति होगी, लेकिन राजनीतिक गलियारों में सुरेश भट्ट का नाम सीएम पद की दौड़ में सबसे आगे बताया जा रहा है। अब देखना होगा कि भाजपा हाईकमान किसे उत्तराखंड राज्य की कमान सौंपती है।

हालांकि हर ओर अभी भी तमाम तरह की चर्चाएं ही जारी हैं कि आखिर उत्तराखंड में सीएम चेहरा किसे बनाया जाता है। भाजपा कहीं न कहीं आगामी 2024 लोकसभा चुनाव की भूमिका बनाने के लिए यहां किसी ऐसे चेहरे को कमान सौंपेगी जिससे आगे फायदा हो। भाजपा के कई नेता तो सुरेश भट्ट के नाम पर मुहर लगने की बात कह रहे हैं, लेकिन सस्पेंस अभी भी बरकार है।