रुद्रप्रयाग विधानसभा से इस बार घमासान मचने के आसार

विधायक चौधरी ने 14 जनप्रतिनिधियों के साथ ही पूर्व सैनिकों को किया पार्टी में शामिल


रुद्रप्रयाग विधानसभा से इस बार घमासान मचने के आसार

रुद्रप्रयाग (संवाददाता) : विधानसभा चुनाव का शंखनाद बजते ही राष्ट्रीय पार्टियों से टिकट के दावेदारों ने जनप्रतिनिधियों के साथ ही पूर्व सैनिकों को पार्टी में खींचना शुरू कर दिया है। ये इसलिए भी कि पार्टी हाईकमान तक यह संदेश पहुंचाया जा सके कि उन्हें जनप्रतिनिधियों के साथ ही जनता का साथ मिल रहा है। सिटिंग विधायक होने के बावजूद भाजपा से इस बार रुद्रप्रयाग विधानसभा सीट से 11 लोगों ने टिकट की दावेदारी की है। ऐसे में टिकट के दावेदार खुद को प्रबल दावेदार बताने की कोशिश करते हुए जनप्रतिनिधियों के साथ ही पूर्व सैनिकों को पार्टी से जोड़ रहे हैं।

बता दें कि रुद्रप्रयाग विधानसभा से इस बार घमासान मचने के साफ आसार नजर आ रहे हैं। सिटिंग विधायक होने के बावजूद 11 लोगों की दावेदारी करना, अपने आप में प्रश्नचिहन खड़े कर रहा है। ऐसे में सिटिंग विधायक खुद को प्रबल दावेदार बताते हुए जनप्रतिनिधियों, पूर्व सैनिकों एवं युवाओं को पार्टी में शामिल करवा रहे हैं, जिससे हाईकमान उन पर दांव खेल सके। सोमवार को रुद्रप्रयाग जिला मुख्यालय में पत्रकारों से वार्ता करते हुए विधायक भरत चैधरी ने पांच सालों की उपलब्धियों को रखा। साथ ही दूर-दराज क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों एवं पूर्व सैनिकों को मीडिया के सामने पार्टी में शामिल करवाया।
उन्होंने कहा कि रुद्रप्रयाग विधानसभा क्षेत्र में विधायक निधि से विभिन्न विकास कार्यो के लिए 700 से अधिक योजनाओं में 20 करोड से अधिक की धनराशि खर्च की गई, जबकि बीते पांच साल के कार्यकाल में रुद्रप्रयाग विधानसभा क्षेत्र से वंचित गांव को सड़क मार्ग से जोड़ने के लिए राज्य व केंद्र की योजनाओं में 70 सड़कों के लिए तीन सौ करोड़ की धनराशि स्वीकृत हुई है। पत्रकारों से वार्ता के दौरान रुद्रप्रयाग विधायक भरत सिंह चैधरी ने कहा कि वर्ष 2000 से 2017 तक विधानसभा के पचास फीसदी गांव ही सड़क मार्ग से जुड़े थे, जो अब बढ़कर 95 फीसदी तक पहुंच चुका है। कहा कि विधानसभा के सभी हाईस्कूल व इंटर कालेज को ई-लर्निंग सिस्टम से जोड़ा गया। विधायक निधि का 52 फीसदी शिक्षा के क्षेत्र में खर्च किया गया। कहा कि राज्य व जिला योजना से भी विभिन्न स्कूलों का नवनिर्माण करवाया गया। उच्च शिक्षा में रुद्रप्रयाग के जवाड़ी में महाविद्यालय का निर्माण एवं महाविद्यालय में बीए कक्षाएं का संचालन व बीएससी की मान्यता महाविद्यालय को दिलाई गई। स्वास्थ्य के क्षेत्र में जिला चिकित्सालय में विधायक निधि लैप्रोस्कोपिक मशीन लगवाई गई। अल्ट्रासाउंड मशीन, ब्लड बैंक सहित डायलिसिस मशीन को स्थापित किया गया। शंकराचार्य माधवाश्रम अस्पताल कोटेश्वर में आक्सीजन प्लांट स्थापित किया गया। रुद्रप्रयाग जिला चिकित्सालय में 2017 में तैनात 10 डाक्टरों की अपेक्षा वर्तमान में 25 डाक्टर कार्यरत हैं। दूरस्थ क्षेत्र पूर्वी बांगर, भरदार, रानीगढ, बच्छणस्यूं में संचार नेटवर्क स्थापित किए गए लम्बे समय से लम्बित भरदार क्षेत्र के लिए रौठिया जवाड़ी फेज-1 के लिए 13 करोड स्वीकृत कर उस पर कार्य करवाया गया। भरदार पेयजल फेज-2 के लिए 25 करोड की स्वीकृति के साथ ही खेडाखाल-नवासू पेयजल योजना के लिए 20 करोड व तल्लानागपुर क्षेत्र के पेयजल योजना के लिए 40 करोड की स्वीकृति दिलाने का कार्य किया गया। विधायक ने कहा कि सीएसआर मद से विधानसभा में 60 से अधिक गांव को 2 हजार से अधिक सोलर लाइट से जोड़ा गया। इस मौके पर जिलाध्यक्ष दिनेश उनियाल, महामंत्री विक्रम कंडारी, पूर्व जिलाध्यक्ष विजय कप्रवान, मीडिया प्रभारी ओपी बहुगुणा, मंडल अध्यक्ष सुरेंद्र रावत, सुरेन्द्र जोशी आदि मौजूद थे।

भाजपा में शामिल हुए 14 प्रतिनिधि…
रुद्रप्रयाग में विधायक की प्रेस वार्ता के दौरान विभिन्न क्षेत्रों से 14 जनप्रतिनिधि, पूर्व सैनिक और युवा भाजपा में शामिल हुए। कनिष्ठ प्रमुख अगस्त्यमुनि शशि नेगी, क्षेपंस खांकरा सुरेंद्र नेगी, क्षेपंस ग्वाड़ गजेंद्र सिंह, क्षेपंस कमेड़ा योगेंद्र सिंह, क्षेपंस सतेराखाल गौरव, क्षेपंस कांडा कुसमा देवी, लव, सेवानिवृत प्रधानचार्य तिलणी दलीप सिंह कठैत, सेवानिवृत प्रधानचार्य मखेत नारायण सिंह बुटोला, क्षेपंस डुंगरा कैलाश, सेवानिवृत प्रधानाचार्य मयाली पुरुषोत्तम काला, कैप्टन प्रवीन सेमवाल, कैप्टन सुमन डियून्डी, कैप्टन संजय डियून्डी रुद्रप्रयाग, सामाजिक कार्यकर्ता सतीश नौटियाल आदि को भाजपा जिलाध्यक्ष दिनेश उनियाल, विधायक एवं अन्य पदाधिकारियों ने सदस्यता दिलाई।

Leave your comment

Your email address will not be published.