हरिद्वार (संवाददाता- अरुण कश्यप): बीएचईएल अनुसूचित जाति एंप्लाइज वेलफेयर एसोसिएशन के तत्वाधान में  भारत की प्रथम महिला शिक्षिका क्रांति ज्योति माता सावित्रीबाई फुले की जयंती हर्षोल्लास के साथ मनायी गई। भेल सेक्टर वन स्थित अंबेडकर भवन में आयोजित जयंती कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथी रमाबाई अंबेडकर महासभा की संस्थापक अध्यक्ष डा. अनु स्वरूप ने कहा कि माता सावित्रीबाई फुले के त्याग और बलिदान का ही परिणाम है कि आज सर्व समाज की महिलाओं की स्थिति में सुधार हुआ है। अति विशिष्ट अतिथि भेल की उप प्रबंधक प्रियंका कठेरिया ने माता सावित्रीबाई फुले के जीवन पर प्रकाश डालते हुए बताया कि सभी को माता सावित्रीबाई फुले के आदर्शों एवं पद चिन्हों का अनुसरण करते हुए समाज सुधार में सहयोग करना चाहिए।

विशिष्ट अतिथि शोभा सिंह ने बताया कि शिक्षा को बढ़ावा देने व समाज के वंचित तबके तक शिक्षा की किरण पहुंचाने में माता सावित्रीबाई फुले की अहम भूमिका रही है। डा.भीमराव अंबेडकर शिक्षा सहभागिता कार्यक्रम के संयुक्त प्रभारी रविकांत बंधु ने कहा कि माता सावित्रीबाई फुले के मिशन का ही परिणाम है कि आज उच्च पदों पर महिलाएं आसीन है एवं उन्हें समानता का दर्जा प्राप्त हुआ है।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए डा.भीमराव अंबेडकर भवन के सचिव ब्रह्मपाल सिंह ने सभी अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि सावित्रीबाई फुले के मिशन को पूरा करने के लिए सबको आगे आना होगा। संचालन शिक्षा सहभागिता कार्यक्रम के वरिष्ठ सदस्य कुलदीप सिंह ने किया। एसोसिएशन के महासचिव मंजीत सिंह, अध्यक्ष अशोक कटारिया एवं सीपी सिंह ने सभी अतिथियों को प्रतीक चिन्ह एवं पुस्तक भेंटकर सम्मानित किया। इस दौरान रंजना लाल खण्डकीया, मनोज कुमार, बृजेश कुमार, भगवान दास, उदयराम, अमित कुमार राम, मोहक्कम सिंह, सुनील कुमार, दीपक रावत, अरुण कुमार, सुनील कुमार, संदीप कुमार, सत कुमार, रामधन, सुबोध कुमार, पहल सिंह, अरविंद कुमार, मेहर सिंह, करण पाल, नाथीराम, राजेन्द्र देवल आदि उपस्थित रहे।

https://devbhoominews.com Follow us on Facebook at https://www.facebook.com/devbhoominew…. Don’t forget to subscribe to our channel https://www.youtube.com/devbhoominews

Leave your comment

Your email address will not be published.