बढ़ती महंगाई के बीच एक और झटका, आरबीआई ने रेपो रेट बढ़ाया, लोन पर बढ़ेगी ईएमआई

दिल्ली ब्यूरो- बढ़ती महंगाई के बीच रिजर्व बैंक ने एक बार फिर रेपो रेट बढ़ाने का ऐलान कर दिया है। इस बार आरबीआई ने रेपो रेट में 50 आधार अंकों की बढ़ोतरी की है। अब रेपो रेट 4.90 फीसदी से बढ़कर 5.40 हो गया है। मई के बाद आरबीआई ने तीसरी बार रेपो रेट में बढ़ोतरी की है। मई में 40 और जून में 50 आधार अंकों के वृद्धि की गई थी। इस रेपो रेट के बढ़ने से होम लोन और कार लोन जैसे सभी लोन पर ईएमआई बढ़ जाएगी।

भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने बयान जारी कर बताया कि मौद्रिक नीति समिति ने 50 आधार को की बढ़ोतरी का फैसला लिया है। इस फैसले के बाद अब रेपो रेट 4.90 फीसदी से बढ़कर 5.40 फीसदी हो गया है। आरबीआई के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि शहरी मांग में सुधार देखने को मिल रहा है। हालांकि इस बात का भी संकेत दिया कि कोर महंगाई दर ऊंचे स्तर पर रहने का अनुमान है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण मांग में धीरे- धीरे सुधार जारी। निवेश में तेजी देखने को मिल रहा है। मौद्रिक नीति समिति पर उन्होंने कहा कि अकोमोडेटिव स्टैंड वापस लेने पर जोर दिया जा रहा है। एमएसएफ को भी 5.15 फीसदी से बढ़ाकर 6.65 फीसदी किया गया है। दुनिया के दूसरे केंद्रीय बैंकों द्वारा दरों की बढ़ोतरी को देखते हुए आरबीआई ने मई में दरें बढ़ाना शुरू कर दिया था। रिजर्व बैंक ने बढ़ती महंगाई को काबू में लाने के लिए मई और जून में नीतिगत दर में कुल 0.90 फीसदी की वृद्धि की थी। इस रेपो रेट में बढ़ोतरी के बाद होम लोन, ऑटो लोन दूसरे बैंक से लोन और भी महंगे हो जाएंगे। मई में जब आरबीआई ने रेपो रेट में 0.40 फीसदी की वृद्धि की थी तो तब बैंकों ने भी ब्याज दरों में इजाफा किया था.