आय से 500 गुना अधिक सम्पत्ति मामले में फंसे IAS रामबिलास पहुंचे हाईकोर्ट, लगाई ये गुहार

0
179
आय से 500 गुना अधिक सम्पत्ति मामले में फंसे आईएएस रामबिलास पहुंचे हाईकोर्ट, लगाई ये गुहार

आय से 500 गुना अधिक सम्पत्ति मामले में फंसे आईएएस रामबिलास पहुंचे हाईकोर्ट, लगाई ये गुहार

देहरादून, ब्यूरो। उत्तराखंड शासन में अपर सचिव समाज कल्याण रामबिलास यादव की मुश्किलें बढ़ती ही जा रही हैं। आय से 500 गुना अधिक संपत्ति के आरोप में विजिलेंस ने विगत दिनों उन पर केस दर्ज करने के साथ उनके चार ठिकानों पर छापे मारे थे। विजिलेंस को सहयोग देने की बजाय रामबिलास यादव गुमराह करने की कोशिश कर रहे हैं। विजिलेंस के अनुसार आईएएस रामबिलास ने जांच में सहयोग नहीं दिया इसलिए उनके चार ठिकानों पर दबिस दी गई। इस दौरान विजिलेंस को कई ऐसे दस्तावेज भी मिले हैं, जिनसे आय से अधिक सम्पत्ति होने के आरोप सच साबित हो रहे हैं। वहीं, आईएएस रामबिलास पासवास पुलिस गिरफ्तारी पर रोक लगाने के लिए हाईकोर्ट पहुंचे हैं। साथ ही उन्होंने कोर्ट से यह भी कहा कि उनकी अधिकतर सम्पत्ति पुश्तैनी है। साथ ही उन्होंने यह भी जिक्र किया है कि उनकी बेटी अमेरिका में वकालत करती है। वह भी उन्हें लंबे समय से पैसा भेज रही है। ऐसे में उन्होंने विजिलेंस के आरोपों को बेबुनियाद और कूटरचित बताया है। दूसरी ओर विजिलेंस के अनुसार आईएएस रामबिलास के दो फ्लैट और चार प्लाट सहस्त्रधारा रोड पर मौजूद हैं। विजिलेंस के अनुसार करीब सात करोड़ की सम्पत्ति रामबिलास यादव की सिर्फ देहरादून में ही है, जो उन्होंने खुद के, पत्नी और बच्चों के नाम पर की है।

आय से 500 गुना अधिक सम्पत्ति मामले में फंसे IAS रामबिलास पहुंचे हाईकोर्ट, लगाई ये गुहार

आय से 500 गुना अधिक सम्पत्ति मामले में फंसे आईएएस रामबिलास पहुंचे हाईकोर्ट, लगाई ये गुहार

हाईकोर्ट में आज इस मामले में सुनवाई होनी है। अब देखना होगा कि हाईकोर्ट आईएएस रामबिलास यादव को कोई राहत देता है या नहीं। दरअसल, रामबिलास यादव आगामी तीस जून 2022 को अपने पद से रिटायर भी हो रहे हैं। विजिलेंस और यूपी सरकार के साथ ही उत्तराखंड सरकार की नींद भी एक-दो महीने से ही जागी है। ऐसे में अब रिटायर होने के बाद दोनों राज्य सरकारें आय से अधिक सम्पत्ति के मामले में सुर्खियों में आए रामबिलास यादव पर कोई कार्रवाई कर पाएगी या नहीं।

दरअसल, इसी जून माह की शुरूआत में विजिलेंस ने आईएएस रामबिलास यादव के खिलाफ केस दर्ज किया था। उनके चार ठिकानों पर विजिलेंस की टीमों ने एक साथ ताबड़तोड़ छापे भी मारे थे। हालांकि रामबिलास यादव अब अपनी गिरफ्तार पर रोक लगाने के लिए हाईकोर्ट के दरबार में पहुंचे हैं। आईएएस रामबिलास के अनुसार उनके पास मौजूदा संपत्ति में से अधिकांश पुश्तैनी है। उन्होंने बताया कि मेरी बेटी अमेरिका में वकालत करती है। वह भी उन्हें भी वहां से धनराशि भेजती है। उन्होंने यह भी कहा है कि वह विजिलेंस की ओर से लगाए गए आरोपों की जांच में पूरी तरह से सहयोग के लिए तैयार हैं। इसलिए उनका किसी भी प्रकार से उत्पीड़न न किया जाए और उनकी गिररफ्तारी पर रोक लगाई जाए।