दिल्ली, ब्यूरो :  भारत में 18 जुलाई को राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव होंगे। जिसके बाद 21 जुलाई को देश को नए राष्ट्रपति मिल जाएंगे। बता दें कि चुनाव आयोग ने राष्ट्रपति चुनाव की तारीख का ऐलान कर दिया है। जिसके अनुसार 18 जुलाई को राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव होंगे। वहीं नामांकन की आखिरी तारीख  29 जून है।

वोटिंग के लिए होगा खास इंक वाला पेन

आज प्रेस कॉन्फ्रेंस में मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने कहा कि राष्ट्रपति चुनाव को लेकर अधिसूचना जारी कर दी गई है। चुनाव में वोटिंग के लिए खास इंक वाला पेन मुहैया कराया जाएगा। वोट देने के लिए 1,2,3 लिखकर पसंद बतानी होगी और पहली पसंद ना बताने पर वोट रद्द हो जाएगा। और अगर कोई दूसरा पेन इस्तेमाल करता है तो उसका वोट भी अमान्य घोषित कर दिया जाएगा। इस दौरान राजनीतिक दल कोई व्हिप नहीं जारी कर सकते हैं। मुख्य चुनाव आयुक्त ने जानकारी देते हुए बताया कि संसद और विधानसभाओं में मतदान होंगे, जहां राज्यसभा के महासचिव चुनाव प्रभारी होंगे। उन्होने कहा कि 776 सांसद और 4033 विधायक, यानी कि कुल 4809 मतदाता वोट देंगे। इस दौरानव व्हिप लागू नहीं होगा और मतदान पूरी तरह से गुप्त होगा। ये भी पढ़े-NHAI World Record: दुनिया ने देखी भारत की ताकत,105 घंटे और 33 मिनट में बनाया हाईवे, कतर को छोड़ा पीछे

राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव घोषित

2017 में राष्ट्रपति चुने गए रामनाथ कोविंद का कार्यकाल 24 जुलाई को ही खत्म हो रहा है। ​ रामनाथ कोविंद देश के 15 वें राष्ट्रपति हैं। पिछली बार राष्ट्रपति  के लिए 17 जुलाई 2017 को राष्ट्रपति चुनाव हुए थे। राष्ट्रपति को चुनने के लिए आम लोग वोटिंग नहीं करते हैं। इसके लिए जनता द्वारा चुने गए प्रतिनिधि और उच्च सदन के प्रतिनिधि वोट डालते हैं। बात चुनाव की करें तो NDA की स्थिति पिछली बार की तरह ही इस बार भी मजबूत है, लेकिन उसने आंध्र प्रदेश और ओडिशा से समर्थन मांगा है। वहीं, UPA की नजर राज्यसभा की 16 सीटों पर है। इन सीटों पर कल चुनाव होना है। ये भी पढ़े-टूर्नामेंट से बाहर होने की कगार पर थी ये खिलाड़ी, फिर विश्व रिकॉर्ड किया अपने नाम