कोरोना के कहर के बीच, यहां 100 मेडिकल स्टाफ को नौकरी से धोना पड़ा हाथ

ऋषिकेश (संवाददाता- अमित कंडियाल): कोरोना के कहर के बीच सबसे ज्यादा मेडिकल स्टाफ की जरूरत है। ऐसे समय में भर्ती की जगह एम्स प्रशासन की एक एजेंसी ने अपने करीब 100 मेडिकल स्टाफ को अचानक नौकरी से निकालकर बाहर का रास्ता दिखा दिया है। जिससे नाराज होकर मेडिकल स्टाफ ने एम्स प्रशासन और एजेंसी के खिलाफ नारेबाजी कर प्रदर्शन करना शुरू कर दिया है।

सुबह से हो रहे हंगामे के बीच समस्या सुनने पहुंची तहसीलदार को मेडिकल स्टाफ के गुस्से का सामना करना पड़ा। हंगामे की वजह से ओपीडी पहुंचे मरीजों को भी फजीहत झेलनी पड़ी। बड़ी संख्या में मेडिकल स्टाफ के बाहर निकाले जाने से एम्स के अंदर स्वास्थ्य सेवाएं लड़खड़ाने की भी आशंका जताई जा रही है। स्टाफ का साफ कहना है कि जब तक उन्हें उनकी नौकरी वापस नहीं मिलती वह एम्स प्रशासन के खिलाफ धरना प्रदर्शन और नारेबाजी करते रहेंगे। वहीं एम्स के पीआरओ हरीश थपलियाल ने बताया कि मामला संज्ञान में आया है। फिलहाल अधिकारियों के साथ बैठक की जा रही है।https://devbhoominews.com Follow us on Facebook at https://www.facebook.com/devbhoominew…. Don’t forget to subscribe to our channel https://www.youtube.com/devbhoominews

Leave a Reply

Your email address will not be published.