“हैशटैग अल्मोड़ा मेडिकल कॉलेज”, ट्विटर अभियान से भी नही चेती सरकार!

#uttarakhand #uttarakhandnews #almoramedicalcollege
अल्मोड़ा मेडिकल कॉलेज के छात्रों द्वारा ट्विटर पर ‘हैशटैग अल्मोड़ा मेडिकल कॉलेज’ के नाम से बीते दिनों मुहिम छेड़ी गई थी। इस मुहिम को सोशल मीडिया पर भारी समर्थन भी मिल रहा था। मगर सरकार द्वारा कोई संज्ञान नही लिए जाने पर अब अल्मोड़ा मेडिकल कॉलेज के छात्रों ने प्रोटेस्ट करने का फैसला लिया है।
ट्विटर पर चल रहे इस अभियान को काफी दिनों से अनदेखा किया जा रहा है। इस वजह से बच्चो ने प्रोटेस्ट करने का कदम उठाया है। इस प्रोटेस्ट में बच्चो ने सीएम धामी से कॉलेज शुरू करने की प्रार्थना की, उनका कहना है कि उत्तराखंड में बढ़ते कोरोना को देखते हुए इस कॉलेज का खुलना जरूरी हो गया है, अल्मोड़ा और उसके आस पास के जिलों में बेहतर स्वस्थ जीवन के लिए ये कॉलेज ज़रूरी है। बता दें कि 30 नवंबर को कॉलेज शुरू किए जाने के वादे किए गए थे जो कि सिर्फ वादों में ही धरे के धरे रह गए। अब 30 नवंबर भी चला गया पर न तो कॉलेज खुला और न ही NMC की टीम आई, अब ऐसे में ये वादे एक बार फिर गलत साबित हो चुके हैं।
इस प्रोटेस्ट में ऋतिक चौधरी, उज्ज्वल चौधरी, प्रियांशु चौधरी, शशांक चौधरी मौजूद रहे। इन सभी ने इस साल neet कि परीक्षा दी है ,ओर अब ये सभी सीएम धामी से अपने सपनो को साकार होने के लिए विनती कर रहे हैं।
“हैशटैग अल्मोड़ा मेडिकल कॉलेज”, 2012 में रखी गई थी नींव
आपको बता दें कि इस मेडिकल कॉलेज की घोषणा साल 2004 में हुई थी और 2012 में इसका निर्माण कार्य शुरू हुआ। पर अभी तक भी मेडिकल कॉलेज शुरू नहीं हो सका है। कॉलेज शुरू होने से 100 सीट का विकल्प छात्रों को मिलेगा। हैरत की बात है कि मेडिकल कॉलेज की नींव 2012 में पड़ी, पर संचालन अब तक शुरू नहीं हुआ है।

Leave your comment

Your email address will not be published.