Friday, August 19, 2022
spot_img
Homeउत्तराखंड विधानसभा चुनाव 2022यमुनोत्री से केदार सिंह को कौन हरा सकता है ? "उत्तराखण्ड 2022...

यमुनोत्री से केदार सिंह को कौन हरा सकता है ? “उत्तराखण्ड 2022 रण और रणबांकुरे”- Episode 02

#uttarakhandnews #uttarakhand #yamunotri

यमुनोत्री – इस सीट के बारे मे कहा जाता है कि यहाँ राष्ट्रीय दलों के नाम पर वोट नहीं पड़ते हैं. बल्कि व्यक्तित्व के आधार पर वोट पड़ते हैं. यहां कुल मतदाता 72,724 हैं. इनमें पुरुष मतदाता-35,366 और महिला मतदाता-37,358 हैं.
उक्रांद का झंडा लेकर चलने वाले चुनिंदा नेताओं मे से एक प्रीतम सिंह पंवार ने 2002 मे यहाँ से जीत दर्ज की. कॉंग्रेस के केदार सिंह दूसरे नंबर पर रहे और भाजपा की सुलोचना गौर तीसरे नंबर पर.

2007 मे कॉंग्रेस के केदार सिंह ने प्रीतम सिंह पंवार को दूसरे नंबर पर धकेल दिया, भाजपा ने इस बार फिर महिला प्रत्याशी पर ही दाँव खेला, विमला नौटियाल को मैदान मे उतारा जो कि 6283 वोटों के साथ तीसरे स्थान पर रही.

2012 मे कॉंग्रेस के केदार सिंह रावत फिर प्रीतम सिंह से हार गये, दूसरे स्थान पर रहे. भाजपा का महिला प्रत्याशियों से मोह भंग हुआ, जगवीर सिंह भंडारी को लड़ाया भाजपा ने इस बार लेकिन वो भी तीसरे स्थान पर ही रहे.

2017 मे भाजपा केदार रावत को अपने खेमे मे खींचने मे कामयाब रही. उनके मुख्य प्रतिद्वंदी प्रीतम सिंह जो की मूल रूप से धनोलती के ध्यान पट्टी नामक क्षेत्र से आते है, वो उक्रांद छोड़कर धनोलती से ही निर्दलीय प्रत्याशी के रूप मे लड़े. कॉंग्रेस ने अनुभवी केदार सिंह के खिलाफ अपने युवा प्रत्याशी संजय दोभाल को उतारा जिन्हे केदार सिंह रावत ने लगभग 6 हज़ार वोटों से हरा कर इस सीट पर अपना कब्जा जमा लिया.

केदार सिंह रावत द्वारा अपने विधानसभा क्षेत्र में 42 सड़कें गांवों तक पहुँचा चुके हैं जबकि 05 सड़कें अभी प्रस्तावित हैं. विधायक निधि में अब तक चार साल में केदार सिंह लगभग 14 करोड़ रुपये खर्च कर चुके हैं.

कांग्रेस के युवा प्रत्याशी संजय डोभाल भी इस सीट पर खासा दबदबा रखते है. युवाओं के बीच खासे चर्चित हैं. अपने पहले विधान सभा चुनाव में ही इन्होंने 13,840 मत प्राप्त कर केदार सिंह रावत को अच्छी-खासी टक्कर दी, जबकि केदार सिंह रावत काफ़ी मजबूत राजनैतिक पृष्ठभूमि से आते हैं.

भाजपा और कॉंग्रेस के उमीद-वार इस सीट पर लगभग निर्धारित हैं. देखना ये है की आप यहाँ से किसे लड़ाती है और केदार सिंह रावत बनाम संजय धोबल की इस जंग पर कितना असर डालती है. हमारी नज़र बनी रहेगी. देखते रहिएगा. बहुत-२ धन्यवाद.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments