बारिश से नैनीताल बेहाल : प्रशासन का झील के ऑटोमेटिक गेट से बचाव का मॉडल हुआ फेल ।

#nainitalnews #uttarakhandnews #uttarakhandflood

सरोवर नगरी कहे जाने वाले नैनीताल में बाड़ जैसे हालात देखने को मिल रहें है। हाई अलर्ट के बाद मूसलाधार बारिश की वजह से नैनी झील का जलस्तर काफी बढ़ गया। जिसकी वजह से सबसे पहले नैना देवी मंदिर के प्रांगण में झील का पानी भर गया और इसके बाद माल रोड की दुकानों के अंदर भी पानी घुस आया। बताया जा रहा है कि झील के निकासी गेट से 18 इंच से अधिक पानी निकासी नहीं होने व तेज बारिश के कारण झील ओवरफ्लो हो गई है। जिससे प्रशासन व सिंचाई विभाग के अफसरों के सामने बड़ी चुनौती खड़ी हो गई है। झील के ऑटोमेटिक गेट लगने से प्रशासन खूब वाहवाही बटोर रहा था कि इस बारिश ने उनके सभी दावों पर पानी फेर दिया । यह पहली बार है कि झील का जलस्तर अक्टूबर माह में 12 फ़ीट के ऊपर पहुँचा है। भारी बारिश के कारण नैनीताल, रानीखेत, अल्मोड़ा से हल्द्वानी और काठगोदाम तक के सभी राष्ट्रीय राजमार्ग अवरुद्ध हो गए हैं.
इसके साथ ही उत्तराखंड के कई इलाकों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है. प्रशासन अलर्ट पर है. साथ ही चार धाम यात्रा रोक दी गई है. पीएम नरेंद्र मोदी ने बारिश और बाढ़ के हालातों पर सीएम Dhami से बात की है. सीएम पुष्कर सिंह धामी ने भी सचिवालय स्थित आपदा कंट्रोल रूम से प्रदेश में भारी बारिश से हुए नुकसान का जायजा लिया है. मुख्यमंत्री वरिष्ठ अधिकारियों और जिलाधिकारियों से लगातार अपडेट ले रहे हैं. साथ ही यहां आने वाले पर्यटकों के लिए दिशानिर्देश जारी किए गए हैं कि घरों में रहें. बेवजह यात्रा करने से बचें.

https://devbhoominews.com Follow us on Facebook at https://www.facebook.com/devbhoominew…. Don’t forget to subscribe to our channel https://www.youtube.com/channel/UCNWx..

Leave your comment

Your email address will not be published.