डॉलर शेषाद्री का निधन। हृदय गति रुकने से हुआ निधन 
तिरुमाला तिरुपति देवस्थानम बोर्ड के ऑफिसर ऑन स्पेशल ड्यूटी पर तैनात पी शेषाद्री का सोमवार, 29 नवंबर की सुबह हृदय गति रुकने से विशाखापत्तनम में निधन हो गया। इन्हें डॉलर शेषाद्री के नाम से भी जाना जाता था, । वह कथित तौर पर कार्तिक दीपोत्सवम के लिए बंदरगाह शहर में थे। तिरुमाला तिरुपति देवस्थानम बोर्ड के साथ वह कई दशकों से जुड़े हुए थे। आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने एक बयान में उनके निधन पर दुख व्यक्त किया। शेषाद्रि 1978 से तिरुमाला तिरुपति देवस्थानम बोर्ड के साथ काम कर रहे थे और 2007 में सेवानिवृत्त हुए, लेकिन ओएसडी के रूप में उन्होंने संगठन की सेवा करना जारी रखा। 
डॉलर शेषाद्री का निधन। सुर्खियों में आए शेषाद्री
शेषाद्रि सबसे पहले तब सुर्खियों में आए जब टीटीडी के पांच ग्राम सोने के 300 सिक्कों की कथित हेराफेरी का कुख्यात मामला सामने आया था। मामला जून 2006 में टीटीडी के आधिकारिक खजाने 'बोक्कसम' से गायब हो जाने वाले सिक्कों से संबंधित है, जहां श्री वेंकटेश्वर का सामान रखा जाता है। मामला सार्वजनिक होने कारण शेषाद्री और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों की सेवाएं 2008 में टीटीडी द्वारा समाप्त कर दी गईं थी। आपको बता दें कि शेषाद्री लगभग एक दशक तक कोषागार के एकमात्र संरक्षक थे। अगस्त 2017 में, एक सरकारी आदेश जारी किया गया था, जिसने शेषाद्री सहित मामले में नामित लोगों के खिलाफ कार्रवाई रद्द कर दी थी। हालांकि सेवानिवृत्त होने के बावजूद भी एक सलाहकार पद पर, शेषाद्रि ने टीटीडी में एक महत्वपूर्ण निभाई थी। 
शेषाद्रि के शरीर को तिरुपति ले जाया गया है, जहां लोग उनके अंतिम संस्कार से पहले उनके सम्मान के लिए पहुंचेंगे। उनके निधन के बाद विभिन्न इलाकों से उनके लिए संवेदनाएं उमड़ पड़ीं।
“टीटीडी के ओएसडी शेषाद्रि की आकस्मिक मृत्यु एक सदमे के रूप में आई है। वह दशकों से मंदिर की सेवा कर रहे थे। मैं उनके परिवार के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं, ” टीडीपी महासचिव नारा लोकेश, जो की पूर्व मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू के बेटे भी हैं।

https://devbhoominews.com Follow us on Facebook at https://www.facebook.com/devbhoominew…. Don’t forget to subscribe to our channel https://www.youtube.com/channel/UCNWx…

Leave your comment

Your email address will not be published.