आज भी इस प्राचीन मंदिर में है, शिव और पार्वती के विवाह की निशानियां मौजूद । Rang Devbhoomi Ke |

#Devbhoominews #lordofshiva

उत्तराखंड की प्राकृतिक सुंदरता इन्सानों के साथ-साथ देवी देवतोओं को भी इतना भाती है कि उत्तराखंड को देवभूमी के नाम से भी जाना जाता है। इसी के साथ हमारे उत्तराखंड में एक जगह ऐसी भी है, जहाँ शादी करने वाले जोड़ों की जिंदगी संवर जाती है। जिस प्राचीन मंदिर के बारे में हम बात कर रहे हैं वहाँ भगवान शिव और माता पार्वती का विवाह हुआ था और आज भी इनकी शादी की निशानियां यहां मौजूद हैं। इस मंदिर के संबंध में गांव में मान्यता प्रचलित है कि भगवान शिव को पति स्वरूप पाने के लिये देवी पार्वती ने कठोर तपस्या की थी। देवी पार्वती की कठोर तपस्या से प्रसन्न होकर शिवजी ने इसके बाद इसी गांव में माता पार्वती से विवाह किया था।

https://devbhoominews.com Follow us on Facebook at https://www.facebook.com/devbhoominew…. Don’t forget to subscribe to our channel https://www.youtube.com/channel/UCNWx..

Leave your comment

Your email address will not be published.