Wed. Apr 1st, 2020

अल्मोड़ा में तीन घंटे खुले बाजार, फिर सब बंद

1 min read

अल्मोड़ा : कोरोना से जंग को लॉकडाउन के साथ निषेधाज्ञा का जनपद भर में अभूतपूर्व असर रहा। खास बात कि लॉकडाउन के प्रति लोगों में खासी जागरूकता दिखी तो धारा-144 के अनुपालन में सहयोग भी किया। पुलिस की मौजूदगी में सुबह सात बजे दुकानें खुली। बगैर किसी जल्दबाजी या अफरातफरी के जरूरत का राशन व सब्जियां खरीदी गई। ओवररेटिंग से बचने को पुलिस प्रशासन की मौजूदगी में खरीदारी हुई। फिर दस बजे बाद पुलिस कर्मियों ने मुनादी कर बाजार बंद करने की अपील की। इसके बाद बाजार व सड़कों पर सन्नाटा पसरता चला गया। कप्तान प्रह्लाद नारायण मीणा ने भी बाजार का जायजा ले जिले के थाना क्षेत्रों की रिपोर्ट ली।जिला मुख्यालय में एसडीएम सीमा विश्वकर्मा, सीओ वीर सिंह, कोतवाल अरुण वर्मा व तहसीलदार संजय कुमार दलबल के साथ प्रात: पौने सात बजे ही बाजार क्षेत्र का जायजा लेने पहुंच गए। पुलिस के पहले में राशन व सब्जियों की खरीदारी की गई ताकि कालाबाजारी या तय मूल्य से ज्यादा पर खाद्य सामग्री न बेची जा सके। कोतवाल अरुण ने प्रात: दस बजे बाद मुनादी कर बाजार बंद करने की अपील की। करीब पौने 11 बजे मुख्य बाजार व माल रोड की दुकानें बंद कर ली गई। इधर धारानौला, गोल मार्केट, चीनाखान, मकीड़ी, लोअर माल, पाडेखोला आदि के साथ ही चितई, जागेश्वर, बाड़ेछीना, धौलछीना बाजार भी प्रात: करीब सवा तीन घटे तक खुले रहने के बाद बंद कर दिया गया।तीन घंटे तक बाजार खुले रहे तो इस अवधि में दोपहिया व चौपहिया वाहनों की आवाजाही भी होती रही। प्रशासनिक अधिकारी व पुलिस कर्मी लोगों से सहयोग की अपील करते रहे। मगर 11 बजे बाद अचानक पुलिस ने सख्त रुख अपना लिया। डांट फटकार के बीच गाडि़यां दौड़ा रहे लोगों को डंडा दिखा घरों को भेज दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *