Wed. Apr 1st, 2020

बाजार में भीड बढा रही चिंता की लकीरे

1 min read

देहरादून। वर्तमान समय में कोरोना वायरस सुरसा के मुंह की तरह बढता ही जा रहा है। कई देशों से होता हुआ यह वायरस भारत को भी अपनी चपेट में ले रहा है। अब तक लगभग 258 लोगो में इस वायरस की पुष्टि हो चुकी है। इनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है। इन लोगो में कई ऐसे भी है जो विदेश यात्रा से लौटे हैं। उत्तर प्रदेश में अब तक 23 मरीज चिन्हित हुए थे। उत्तर प्रदेश की संख्या को देखकर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना वायरस से लडने के लिए खुद को तैयार करने की जरूरत पर बल दिया है। उन्होने यहां तक कह दिया है कि पूरे देश के अंदर कोरोना वायरस अभी दूसरे चरण मे है। हम इस चरण पर इसको रोकने में अगर सफल होते हैं तो यह दूनिया के लिए बडा संदेश होगा। इस संक्रमण को रोकने क लिए हमारी कार्यवाही युद्ध स्तर पर चल रही है। उत्तर प्रदेश की तरह ही उत्तराखण्ड सरकार भी कोरोना वायरस को लेकर काफी गंभीर मुद्रा में है। सरकार इस पर पुरी नजर रखे हुए हैं जिसके कारण शासन व प्रशासन समय-समय पर एडवाइजरी भी जारी कर रहा है। देहरादून का जिला प्रशासन हर रोज कोई न कोई नये आदेश भी दे रहा है। प्रशासन दिशा निर्देश देने में एक सेकेंड की भी देरी नही रहा। लेकिन शासन प्रशासन के दिशा निर्देश केवल समाचार पत्रो की सुर्खियां बनकर ही समाप्त हो रहा है। यह बात इसलिए कही जा रही है कि धरातल पर शासन प्रशासन के दिशा निर्देशो का रत्ती भर भी असर दिखायी नही दे रहा। बात यदि देहरादून की की जाए तो राजपुर रोड, घंटाघर, चकराता रोड, प्रिंस चैक, सहारनपुर रोड को छोडकर अन्य बाजार पूरे पैक चल रहे हैं। हनुमान चैक, पुरानी सब्जी मंडी, दर्शनी गेट, तिलक रोड, भंडारी चैक, झंडा मोहल्ला, धामावाला बाजार आदि ऐसे क्षेत्र हैं जहां सुबह से लेकर शाम तक लोगो की बिना ऐतिहात बरते भीड जुटी रहती है। पीक अवर माने जाने वाला समय दोपहर 12 बजे का हाल तो और भी बद से बदत्तर कहा जा सकता है। इस समय अवधि के दौरान हनुमान चैक, नहर वाली गली, मोची गली, रामलीला बाजार मंे लोडर से माल उतरते हुए एवं उसके पीछे दोपहिया वाहनो की भीड बडी आसानी से देखी जा सकती है। हालात इतने ज्यादा खराब होते हैं कि पैदल चलने तक की जगह नही मिलती। आज ही की बात करें तो दोपहर 12 बजे के लगभग हमारे संवाददाता अपने निवास स्थान से कार्यालय जा रहे थे तो उन्होने बाजार का मुआयना करने का निर्णय लिया। उन्होने देखा कि हनुमान चैक, रामलीला बाजार, मोची गली, नहरवाली गली, तिलक रोड, सब्जी मंडी, धामावाला में लोगो की भीड इतनी ज्यादा थी कि पैदल चलने की कि जगह नही मिल रही थी। लोडरो से दुकानदारो का माल भीड के बीच में ही उतर रहा था। जो भीड को और ज्यादा बढाने का काम कर रहा था। लोग बिना मास्क पहने खासते, छीकंते हुए दिखायी दे रहे थे। जबकि शासन से लेकर प्रशासन तक बार-बार एक ही दिशा निर्देश जारी कर रहा है कि खासते, छीकते वक्त अपने मुंह को रूमाल, टीशू पेपर से ढके। लेकिन जो भीड के हाल आज देखने को मिले उसे देखकर यही कहा जा सकता है कि कोरोना वायरस से खतरनाक तो यह भीड है। जो संक्रमण को बढाने का काम कर रही है। सबसे बडी चर्चा तो यह भी हो सकती है कि जो लोडर पीक अवर में व्यस्तम बाजारो में माल लोड अनलोड करने का काम कर रहे हैं उनपर पुलिस महकमा कार्यवाही क्यो नही कर रहा। जबकि पूर्व में यह आदेश जारी है कि दुकानदारो का माल लाने व ले जाने क लिए लोडर सुबह 8 बजे से पहले व रात्रि 8 बजे के बाद व्यस्तम बाजारो में आयेंगे। लेकिन आज जो स्थिति बाजारो में देखी गयी उसे देखकर तो यही कहा जा सकता है कि पुलिस महकमा भी अपनी जिम्मेदारी से मुंह मोड रहा है। जब कोरोना वायरस जैसा खतरा सिर पर मंडरा रहा हो तो उसे देखते हुए एक बडी कार्यवाही की अवश्यकता है ताकि किसी बाजार में भीड न जुटे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *