Mon. Mar 30th, 2020

फैक्ट्री में लगी भीषण आग, लगातार फट रहे थे सिलेंडर, हो रहा था गैस रिसाव

1 min read

देहरादून। पटेलनगर स्थित इंडस्ट्रियल एरिया में एक ब्रेड फैक्ट्री में सुबह आग लग गई। आग के कारण सारा सामान जल गया। मौके पर पहुंची फायर ब्रिगेड की टीम ने रेस्क्यू कर छह लोगों को ऊपरी मंजिल से सुरक्षित बाहर निकाला।

प्रातः समय करीब 03:35 बजे कंट्रोल रूम माध्यम से थाना पटेलनगर को सूचना प्राप्त हुई थी पटेलनगर इंडस्ट्रियल एरिया में एक फैक्ट्री में भीषण आग लगी हुई है। इस सूचना पर क्षेत्राधिकारी सदर व थाना पटेल नगर से प्रभारी निरीक्षक पटेलनगर पुलिस बल के साथ मौके पर रवाना हुए। मौके पर महंत इंद्रेश अस्पताल के पास रिलायंस फूड प्रोसेसिंग कंपनी, नंबर- 9 कोऑपरेटिव इंडस्ट्रियल एरिया, पटेल नगर, देहरादून  में भीषण आग लगी हुई थी तथा उसमें रह रहे मजदूर बिल्डिंग के ऊपरी तल पर आग की लपटों में फंसे हुए थे। फैक्ट्री के ग्राउंड फ्लोर में भीषण आग लगने से प्रथम तल की ओर जाने वाली सीढ़ियों के पास रखे एलपीजी के कॉमर्शियल सिलेंडर लगातार फट रहे थे तथा गैस रिसाव हो रहा था, जिससे उक्त सीढ़ियों के माध्यम से प्रथम तल तक पहुंचना नामुमकिन था, आग की भीषण लपटों के प्रथम तल तक पहुंचने से ऊपरी मंजिल में धुआं भर जाने के कारण उसमें फंसे मजदूरों मजदूरों द्वारा स्वयं को बचाने के लिए चीख- पुकार  मचाई जा रही थी। मौके से तत्काल फायर सर्विस को सूचित करते हुए दमकल के वाहनों को मौके पर बुलाया गया। मौके पर पहुंची फायर ब्रिगेड  द्वारा अत्यंत सूझबूझ का परिचय देते हुए स्वयं व अपने जनमानस को सुरक्षित रखते हुए अग्निशमन कार्य निरंतर जारी रखा गया, साथ ही के एलपीजी गैस पर लगातार पानी की बौछारे डाली गई। स्थानीय पुलिस तथा फायर ब्रिगेड द्वारा किसी तरह प्रथम तल में फंसे लोगों से संपर्क किया गया तो उनके द्वारा बताया गया कि धुँए के कारण उन्हें कुछ दिख नहीं रहा है तथा सांस लेने में भी दिक्कत हो रही है। जिस पर स्थानीय पुलिस और फायर ब्रिगेड की संयुक्त टीम द्वारा मौके पर अपनी जान जोखिम में डालकर अदम्य साहस का परिचय देते हुए फूड प्रोसेसिंग यूनिट के पीछे स्थित दूसरी इमारत से फायर ब्रिगेड की लैडर को उक्त इमारत से सटाकर प्रथम तल में फसें 7 व्यक्तियों को सुरक्षित दूसरी इमारत में रेस्क्यू किया गया। आग पर अग्निशमन के वाहनों द्वारा लगभग 06 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद काबू पाया गया। रेस्क्यू अभियान के दौरान दमकल के वाहनों का पानी समाप्त होने पर  फायर  सर्विस यूनिटों द्वारा महंत इंद्रेश अस्पताल, रिलायंस मॉल व अन्य स्थानों से वाहनों में रिले पंपिंग की मदद से पानी भरकर अग्निशमन कार्य में लगे फायर टेंडरों को लगातार जल आपूर्ति की गई। आग से भवन के बेसमेंट व  भूतल पर रखा ब्रेड बनाने की खाद्य सामग्री, खाद्य तेल व एलपीजी सिलेंडर पूरी तरह नष्ट हो गये। आग से किसी प्रकार की जनहानि नहीं हुई है। आग लगने के कारणों व उससे हुई हानि का आंकलन किया जा रहा है। पुलिस के अनुसार जिन मजदूरों का रेस्क्यू किया गया उनमे धर्मेंद्र सिंह पुत्र नेत्रपाल सिंह निवासी बरेली उम्र 40 वर्ष, प्रमोद कुमार पुत्र होरीलाल निवासी बरेली उम्र 40 वर्ष, मनीष पुत्र रामसेवक निवासी रामपुर उम्र 18 वर्ष, पवन कुमार पुत्र राम चरण निवासी रामपुर उम्र 22 वर्ष, संजय पुत्र महेंद्र पाल निवासी बरेली  41 वर्ष, धर्मेंद्र पुत्र चंद्रपाल निवासी उपरोक्त 22 वर्ष व ज्ञानसू निवासी सीतापुर उम्र 25 वर्ष शामिल थे। गौरतलब हैं की समय-समय पर पुलिस उपमहानिरीक्षक, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून अरुण मोहन जोशी के निर्देशन में फायर सर्विस तथा स्थानीय पुलिस द्वारा नियमित रूप से अग्निकांडो की मॉकड्रिल का अभ्यास किया जाता रहा है तथा मॉकड्रिल के उपरांत उसमें पाई गई कमियों का विश्लेषण करते हुए उसमें नियमित रूप से सुधार किया जाता रहा है। साथ ही स्पष्ट तौर पर निर्देश जारी किए गए थे कि अग्निकांड घटित होने पर रिस्पांस टाइम को कम से कम रखा जाए तथा उसके लिए एक एसओपी तैयार करते हुए मानक तय किए गए हैं। पूर्व में की गई मॉक ड्रिल तथा दिए गए दिशा-निर्देशों के अनुरूप ही आज अग्निकांड के दौरान त्वरित कार्रवाई की गई। जिससे भारी जानमाल की क्षति होने से बचाया जा सका। उक्त अग्निकांड में काबू पाने के लिए दमकल के 07 वाहनों तथा 24 दमकल कर्मियों द्वारा 6 घंटे तक कड़ी मशक्कत की गई।  साथ ही रेस्क्यू अभियान में थाना पटेलनगर पुलिस का भी सराहनीय सहयोग रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *