Sat. Jan 25th, 2020

11 सूत्री मांगों को लेकर अनिश्चितकालीन हड़ताल

1 min read

जोशीमठ।/ नगर पंचायत पोखरी के अध्यक्ष व सफाई कर्मीयो के बीच रार मची हुई है । सफाई कर्मचारियों ने नगर पंचायत अध्यक्ष के पुत्र पर धमकाने व जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया गया है। पोखरी नगर पंचायत के सफाईकर्मियों ने नगरपंचायत अध्य्क्ष के पुत्र पर कार्यवाही सहित 11 सूत्रीय मांगों को लेकर अनिश्चतकालीन हड़ताल शुरू कर दी है । देश के प्रधानमंत्री के स्वच्छता अभियान के तहत इन दिनों प्रदेश में स्वच्छता सर्वेक्षण का अभियान चलाया जा रहा है । इस सर्वेक्षण के तहत जो  पालिकाएं स्वछता में उत्कृष्ट स्थान प्राप्त करेगी उन्हें राष्ट्रीय स्तर पर पुरुष्कृत किया जाता है । लेकिन जब सफाई कर्मचारी ही हड़ताल पर चले जाय तो ऐसे में कैसे पालिका स्वछता को लेकर राष्ट्रीय स्तर पर नाम कमा सकती है । मामला चमोली जिले के पोखरी नगर पंचायत का है । क्योंकि यहां के सफाई कर्मचारियों ने 11 सूत्रीय मांगों को लेकर आज से अनिश्चित कालीन हड़ताल शुरू कर दी है । कर्मचारियों ने नगर पंचायत अध्यक्ष के पुत्र पर बदसलूकी का आरोप लगाया है । और कुल 11 सूत्रीय मांगों को लेकर अनिश्चित कालीन हडताल शुरू कर दी है नगर पंचायत पोखरी कार्यलय  के ठीक सामने पोखरी नगरपंचायत के सफाईकर्मियों ने वेतनवृद्वि  की मांग और नगर पंचायत अध्यक्ष के पुत्र पर पूर्व में सफाईकर्मी को धमकी देने और बदसलूकी करने का आरोप लगाते हुये कार्यवाही करने की मांग उठाते हुए प्रदर्शन और नारेबाजी की ,साथ ही मांग पूरी न होने पर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने का फैसला लिया है।जिससे आज से ही नगर की साफ सफाई ठप्प पड़ गई है ।मामले पर नगर पंचायत पोखरी के अधिशासी अधिकारी का कहना है कि सफाईकर्मियों का वेतन सफाईकर्मियों के खातों में भेजा जा चुका है।साथ ही उन्होंने कहा कि नगर पंचायत अध्य्क्ष पोखरी के पुत्र के द्वारा पूर्व में मुझे भी जान से मारने की धमकी दी गई थी।जिसकी शिकायत मेरे द्वारा ज़िलाधिकारी चमोली और सचिव शहरी विकास को भी की गई थी । वहीं दूसरी ओर नगर पंचायत पोखरी में सफाईकर्मियों के आंदोलन को नगर पार्षदों ने भी समर्थन दिया है।पार्षदों ने भी नगर पंचायत अध्य्क्ष और उनके पुत्र पर नगर के विकासकार्यो में मनमानी करने का आरोप लगाया है।वंही पूरे प्रकरण को नगर पंचायत अध्य्क्ष पोखरी लक्ष्मी प्रसाद पंत ने एक साजिश बताया है।उन्होंने कहा कि योजनाबद्ध तरीके से सफाईकर्मियों को हड़ताल करने के लिए विपक्षियों के द्वारा भड़काया गया है।साथ ही नियुक्तयो को लेकर उन्होंने कहा कि विज्ञप्ति जारी करने के बाद ही सफाईकर्मियों की नियुक्ति पोखरी नगर पंचायत में की जाएगी।जिससे कि  पारदर्शिता बनी रहे।एक और जहाँ देश दुनिया में स्वछता को लेकर सर्वे चला रहा है तो वही पोखरी नगर पंचायत में सफाई कर्मियों की हड़ताल किया जाना नगर पंचायत के लिए किसी मुसीबत से कम नही है । सफाई  कर्मचारियों की मांगे भी जायज है अगर जल्द ही उनकी मांगे पूरी नही हुई तो पोखरी नगर पंचायत में गंदगी का अंबार लग जायेगा , साथ ही पंचायत 2020 के स्वच्छता सर्वेक्षण में भी पिछड़ जाएगा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *