Sat. Jan 18th, 2020

भारी बर्फबारी के कारण संकट में याक

1 min read

जोशीमठ।विकासखंड जोशीमठ के सीमांत क्षेत्र मै भारी बर्फबारी के कारण उच़ाई वाले इलाकों से याक नीचे इलाके में आने को मजबुर है। बताते चले कि रैणी लाता के जंगलों में भारी बर्फ बारी होने से याको का संकट खतरे मै पड़ता नजर आ रहा है क्योंकि जंगलों मै याकों के संरक्षण के लिए कोई व्यवस्था नहीं की गई है। शासन प्रशासन द्वारा याकॊ द्वारा  तो रहने और। नहीं खाने के लिए कोई व्यवस्था नहीं की है।जिससे याक जंगलों से नीचे की और रुख कर रहे हैं।जिसको लेकर स्थानीय ग्रामीणों ने यांको के संरक्षण के लिए प्रशासन से कई बार गुहार भी लगाई लेकिन याको के न तो रहने के लिए कोई उचित व्यवस्था की गई है और। नहीं उन्हे नमक की व्यवस्था की है। ग्रामीणों द्वारा याको को बर्फ से दूर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा कर उन्हें नामक की व्यवस्था की गई।स्थानीय निवासी लक्ष्मण सिंह बुटोला का कहना है कि याक चौर गाय को की पहाड़ी क्षेत्र के जंगलों मै पाए जाते है।लेकिन शासन प्रशासन द्वारा याक के संरक्षण के लिए कोई  व्यवस्था नहीं की है ग्रामीणों द्वारा याको को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा कर उन्हें नमक की व्यवस्था कराई गई तथा शासन प्रशासन से इन जानवरो को संरक्षित करने के लिए गुहार लगाई।  पहले याक् द्वारा सामान ढोने के लिए उपयोग किया जाता था लेकिन अब इनका उपयोग काम  के लिए नहीं किया जाता है।इनके संरक्षण  होने से याक की संख्या कम होती जा रही है याक विलुप्त की कगार पर है।वहीं उपजिलाधिकारी अनिल  चंन्या ल का कहना है कि याक के संरक्षण के लिए उनकी उचित व्यवस्था के लिए वन विभाग को निर्देश दे दिए गए है। जल्द ही याक को के लिए रहने तथा नमक  के उचित व्यवस्था  की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *