Sat. Jan 18th, 2020

क्षेत्रीय प्रशासन पर ग्रामीणों की अनदेखी का आरोप

1 min read

बिजनौर। हीमपुर दीपा क्षेत्र के ग्राम फ़ैज़ीपुर में छोय्या नदी का पानी टूटने से कई किसानों की फसल बर्बाद हो गई । इतना ही नही खेत में किसानों की आवाजाही के लिए भी मार्ग पूर्णतः जलमग्न हो गया । भरी ठंड में खुले आसमान के नीचे इसी पानी मे खड़े रहने के कारण एक गाय की भी मृत्यु हो गई । मौके से जुटाई जानकारी से सामने आया कि छोय्या नदी घूमते हुए फ़ैज़ीपुर – सलेमपुर गांव से निकलती है । जहाँ नदी टूटी हुई है और उसका पानी सलेमपुर गांव के किसानों के खेत मे घुस जाता है । हद तो तब हो गई जब पिछले दो दिनों से पानी लगातार खेतो में आने पर लगा हुआ है । पानी जमा रहने के कारण यहाँ कई किसानों की गन्ने की फसल बर्बाद हो गई है । इतना ही नही बीती शाम एक आवार पशु ( गाय ) का भरी ठंड में खुले आसमान के नीचे ठंडे पानी मे लेटे रहने के कारण मौत हो गई । आवारा पशु की मृत्यु का कारण कुछ ओर भी हो सकता है परंतु स्थिति देखने के कारण क्षेत्रीय किसानों का यही कहना है । खेत मे पानी भरे रहने के कारण आवाजाही का रास्ता पूर्णतः जलमग्न हो जाने के कारण कोई मृत जानवर के पास नही जा रहा है । इसीलिए मृत शव पर चील कौए मंडरा रहे है ।क्षेत्रीय किसानों ने प्रशासन पर अनदेखी का आरोप लगाते हुए कहा कि है कि उन्हें इस भयाभय समस्या से जल्द निदान दिलाया जाए । और छोय्या नदी को शीघ्र अतिशीघ्र ठीक कराया जाए ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *