Sat. Jan 25th, 2020

दर्शकों को फिर से प्रभावित करने के लिए नए सिरे से संघर्ष कर रहा हूं: विजय वर्मा

1 min read

मुंबई। हर अभिनेता को अपने फिल्मी सफर में एक किरदार ऐसा निभाने का मौका जरूर मिलता है जो उसके अभिनय को नई दिशा देता है, और अभिनेता विजय वर्मा “गली बॉय” को अपने करियर की ऐसी ही फिल्म मानते हैं, जिसमें उनके अभिनय को खूब सराहा गया।  वर्मा का कहना है कि यही सराहना उन्हें 2020 में चुनौतीपूर्ण काम करने के लिए प्रेरित करेगी। विजय जोया अख्तर के निर्देशन में बनी “गली बॉय” में मुंबई की झुग्गी में रहने वाले मोइन के किरदार में थे जिसने उन्हें एक अलग पहचान दिलाई। विजय ने ‘पीटीआई भाषा’ से कहा, “मैं 2019 के प्रति आभारी हूं। इसी साल मुझे वह स्वीकृति और सराहना मिली जिसकी मुझे बेहद शिद्दत से तलाश थी।” अभिनेता का कहना है कि अब आने वाली चुनौतियों को स्वीकार कर उनपर खरा उतरने के लिए संघर्ष करना होगा। उन्होंने कहा, “मुझे पता है कि अब मुझसे उम्मीदें जुड़ गईं हैं। आगे भी लोगों को चौंकाने में सफल होने और खुद को आगे बढ़ाने के लिए संघर्ष करना होगा।” हैदराबाद के गैर फिल्मी पृष्ठभूमि वाले परिवार से आने वाले 33 वर्षीय अभिनेता का कहना है कि “गली बॉय” के बाद अब काम मिलना शुरू हो गया है।विजय कहते हैं, “मैं घर से भाग गया था और खुद का खर्च उठाना भी मेरे लिए मुश्किल था। दूसरे लोग मेरा ध्यान रख रहे थे। इसलिए मेरे लिए अपने पैरों पर खड़ा होना पहली चुनौती थी। इसके लिए मुझे काम की जरूरत थी और मैंने सोचा था कि मैं कोई भी काम करूंगा।” विजय एफटीआईआई में पढ़ने के लिए घर से भाग गए थे। विजय ने ‘रंगरेज’, ‘गैंग ऑफ घोस्ट’ और गुनीत मोंगा की ‘मानसून शूटआउट’ जैसी फिल्मों में काम किया। उन्होंने बताया, “जब “मानसून शूटआउट” कान फिल्म फेस्टिवल में पहुंची तो वह मेरे लिए बड़ा मौका था। मेरा पहला रेड कार्पेट, मेरा पहले फेस्टिवल। भारत में बहुत समय तक इस फिल्म को पहचाना भी नहीं गया था।” विजय जोया अखतर के निर्देशन में बन रही “घोस्ट स्टोरीज” में नजर आएंगे। उसके बाद वह “हुड़दंग”, “बागी 3” और मीरा नायर की “सुटेबल बॉय” में भी अभिनय करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *