Thu. Dec 12th, 2019

तीर्थपुरोहितों ने किया विधानसभा कूच

1 min read

देहरादून। चारधाम श्राइन बोर्ड को लेकर तीर्थपुरोहितों का विरोध आज लगातार दूसरे दिन भी जारी रहा। तीर्थ पुरोहितों ने हक हकूकधारी और महापंचायत के सदस्यों के साथ मिलकर विधानसभा कूच किया। इस दौरान पुलिस ने उन्हे रोकने का भी प्रयास किया। आज दोपहर तीर्थपुरोहित आराघर के पास एकत्र हुये, जहां से उन्होंने विधानसभा कूच किया। प्रदर्शन करने वालों में बद्रीनाथ धाम से जुड़े टैनखंडा हक हकूकधारी महासंघ, डिमरी-बद्री पंचायत, केदारनाथ तीर्थ पुरोहित महासभा, गंगोत्री तीर्थ पुरोहित महासभा, यमुनोत्री तीर्थ पुरोहित महासभा, चंद्रबदनी मंदिर समिति आदि से जुड़े तीर्थ पुरोहितों और हक हकूकधारी शामिल थे। इस अवसर पर तीर्थ पुरोहितो की सभा को सम्बोधित करते हुये वक्ताओं ने कहा की जब तक सरकार की ओर से अपने निर्णय को वापस नहीं लिया जाता तब तक आंदोलन जारी रहेगा। महापंचायत के संयोजक सुरेश सेमवाल ने बताया कि सरकार का रवैया तीर्थ पुराहितों के प्रति उपेक्षा पूर्ण है। 27 नवंबर से अभी तक कैबिनेट के निर्णय का विरोध कर रहे तीर्थ पुराहितों से सरकार ने वार्ता का प्रयास भी नहीं किया। उन्होंने कहा कि सरकार की संवादहीनता के कारण तीर्थ पुरोहितों में आक्रोश है। महापंचायत के महामंत्री हरीश डिमरी ने बताया कि महापंचायत अपने विरोध पर अडिग है। जब तक सरकार की ओर से अपने निर्णय को वापस नहीं लिया जाता आंदोलन जारी रहेगा। विधान कूच के माध्यम से सभा तीर्थ पुरोहितों ने राज्य सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए श्राइन बोर्ड गठन का फैसला वापस लेने की मांग की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *