Wed. Nov 13th, 2019

बैंड-बाजों के साथ निकाली शालिग्राम की बरात

1 min read

रुड़की : देवउठनी एकादशी के मौके पर शुक्रवार को शहर के मंदिरों में विशेष पूजा-अर्चना की गई। वहीं भगवान विष्णु की आराधना के लिए मंदिरों में श्रद्धालु अधिक संख्या में पहुंचे। साथ ही धूमधाम के साथ तुलसी-शालिग्राम का विवाह भी संपन्न करवाया गया। जबकि शुक्रवार को सिद्ध मुहूर्त होने की वजह से शहर में शादियों की भी धूम रही।चार महीने के शयनकाल के बाद देवउठनी एकादशी पर भगवान विष्णु जाग्रत हो गए। भगवान विष्णु की विधिविधान के साथ पूजा-अर्चना की गई। शहर के साकेत स्थित दुर्गा चौक मंदिर, नहर किनारे के लक्ष्मीनारायण मंदिर, शिव मंदिर, प्रेम मंदिर, रामनगर के राम मंदिर समेत शहर और आसपास के क्षेत्रों में देवउठनी एकादशी के मौके पर भगवान विष्णु का विशेष पूजन किया गया। वहीं दुर्गा चौक मंदिर में धूमधाम के साथ तुलसी-शालिग्राम का विवाह किया गया। बैंड-बाजों के साथ दुर्गा चौक मंदिर से शालिग्राम की बरात निकाली गई। इसमें श्रद्धालु झूमते-नाचते और गाते हुए शामिल हुए। पंडित जगदीश प्रसाद पैन्यूली ने बताया कि श्रद्धालुओं ने जगह-जगह फूलों की वर्षा से शालिग्राम की बरात का स्वागत किया। वहीं रामनगर स्थित राम मंदिर की ओर से भी धूमधाम से शालिग्राम की बरात निकाली गई। इसके बाद मंदिर में पंडित कैलाश चंद्र शास्त्री ने पूजा-अर्चना करवाई। इस दौरान काफी संख्या में श्रद्धालु मौजूद रहे। वहीं दुर्गा चौक मंदिर की ओर से निकाली गई शालिग्राम की बरात में बड़ी संख्या में भक्त शामिल हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *