Thu. Nov 21st, 2019

अंतर्राज्यीय एटीएम कटिंग गिरोह के दो सदस्य गिरफ्रतार

1 min read

देहरादून। राजपुर थाना क्षेत्र के डीआईडी के पास स्थित एसबीआई के एटीएम में लाखों की चोरी के मामले का खुलासा करते हुए पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्रतार किया है। आरोपियों के पास से वारदात में इस्तेमाल की गई कार और लाखों की नगदी भी बरामद की गई है। इस वारदात में शामिल तीन आरोपी फरार है। गौरव कुमार सीनियर रीजनल रिप्रजेन्टेटिव फाइनेन्शिएल सॉफ्रटवेयर एंड सिस्टम निवासी दीपनगर, अजबपुर कलां ने थाना राजपुर पर लिखित  शिकायत की कि 27-28 अक्टूबर की रात्रि को एसबीआई एटीएम निकट डीआईटी कालेज, मक्कावाला में कुछ अज्ञात व्यत्तिफ़यों द्वारा एटीएम मशीन को काट कर उसमें रखा  कैश चोरी कर लिया है तथा एटीएम मशीन को भी क्षतिग्रस्त किया गया है, उत्तफ़ एटीएम पर बैंक द्वारा गार्ड नियुत्तफ़ रहते हैं परंतु मिली जानकारी के अनुसार उस रात्रि गार्ड अनुपस्थित था। इस सूचना पर थाना राजपुर पर उचित धाराओ में अभियोग पंजीकृत कर मौके पर तुरंत थानाध्यक्ष राजपुर मय फोर्स के पहुँचकर निरीक्षण किया गया। प्रथम दृष्टया एटीएम मशीन को गैस कटर से काटकर कैश की चोरी करना प्रकाश में आने पर इसकी सूचना उच्चाधिकारीगणों को दी गयी तथा मौके पर फॉरेन्सिक टीम व एसओजी टीम को बुलाकर आवश्यक साक्ष्य संकलन की कार्यवाही की गयी। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून द्वारा घटना की गम्भीरता के दृष्टिगत उसके अनावरण हेतु अलग- अलग टीमें बनाकर आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए, जिसके अनुपालन में पुलिस अधीक्षक नगर व क्षेत्रधिकारी मसूरी के निकट पर्यवेक्षण में अलग-अलग टीमों का गठन किया गया। घटना के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त करने पर एक संदिग्ध कार स्विफ्रट डिजायर कार संख्याः यूके-07-टीबी-1702, जो जनपद की सीमा से बाहर जाने का प्रयास कर रही थी, को पुलिस द्वारा चैकिंग हेतु आशारोडी चौक पोस्ट पर रोका गया था, जिसमें पांच व्यत्तिफ़ सवार थे। कार के नम्बर को मौके पर एनआईसी पोर्टल के माध्यम से चैक करने पर उत्तफ़ नम्बर स्विफ्रट डिजायर गाडी का ही होना पाया गया। कार की तलाशी लेने पर उत्तफ़ कार में कोई संदिग्ध वस्तु बरामद नहीं हुई, परन्तु कार चालक के पास गाडी की आर0सी0 न होने के कारण पुलिस द्वारा उसके डी0एल0 व पहचान पत्र की फोटो खींच ली गयी। संदिग्ध कार के सम्बन्ध में पुलिस टीम द्वारा गहनता से पड़ताल करने पर उक्त  नम्बर की स्विफ्रट डिजायर कार का घटना के दिन जनपद की सीमा से बाहर न जाकर देहरादून में ही होना पाया गया । जिससे यह स्पष्ट हो गया कि उक्त वयक्तियो द्वारा घटना के दिन वाहन में फर्जी नम्बर प्लेट का इस्तेमाल कर घटना को अंजाम दिया गया था। कार सवार व्यत्तिफ़यों द्वारा दिये गये ड्राइविंग लाइसेंस व पहचान पत्र की जांच में उक्त ड्राइविंग लाइसेंस अकरम निवासीः 87 विश्म्बरा थाना शेरगढ जनपद मथुरा व पहचान पत्र आमीन निवासीः 87 विश्म्बरा थाना शेरगढ जनपद मथुरा के नाम पर होना पाया गया। मुऽबिर द्वारा पुलिस टीम को सूचना दी गयी कि आमीन उत्तफ़ स्विफ्रट डिजायर कार से अपने एक अन्य साथी आफताब के साथ मेवात हरियाणा जा रहा है। सूचना पर पुलिस टीम द्वारा अभियुत्तफ़ आमीन व उसके एक अन्य साथी आफताब खान  को मुख्य सडक से हसनपुर की ओर जाने वाले मार्ग पर भिटुडी नामक स्थान से गिरफ्तार  किया गया। अभियुक्तो  की तलाशी लेने पर उनके पास से घटना में चोरी की गयी घनराशि व अन्य दस्तावेज प्राप्त हुए। अभियुत्तफ़ों को आज न्यायालय के समक्ष पेश किया जायेगा। वहीं घटना में मौहम्मद हाशिम उर्फ मुच्छल निवासी- ग्रा0 मौहम्मदपुर अहीर, जिला मेवात, हरियाणा। शौकत निवासी- ग्रा0 शिकारपुर, मेवात, हरियाणा। ’(पेशा- वैल्डिंग का कार्य)व तालीम निवासी- ग्रा0 नगला कानपुर, थाना हसनपुर, जिला पलवल, हरियाणा फरार हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *