हिमान्या सरस मेला अपने उद्देश्य की पूर्ति में पूरी तरह से सफल-युगल किशोर पंत

Pic 01

देहरादून। हिमान्या सरस मेला-2017 देहरादून के परेड ग्राउन्ड में पिछले 6 अक्टूबर से लगा हुआ है जिसका शुभारंभ मा0 त्रिवेन्द्र सिंह रावत मुख्यमंत्री उत्तराखण्ड सरकार ने दीप प्रज्जलित कर किया था। यह सरस मेला 17 अक्टूबर तक चलेगा।
Pic 06
उत्तराखण्ड राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री युगल किशोर पंत द्वारा अवगत कराया गया कि इस वर्ष सरस मेला अपने उद्देश्य की पूर्ति में पूरी तरह से सफल रहा है। अभी तक हिमान्या सरस मेला अच्छा चल रहा है लोगों का रूझान मेले के प्रति बढ़ा है। मेले में प्रतिदिन सांय काल में सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी आयोजन किया जा रहा है जिसमें स्थानीय कलाकार गढ़वाली, कुमाऊँनी, जौनसारी, हिमांचली व हिन्दी गीतों पर अपनी प्रस्तुतियाँ दे रहें है। देहरादूनवासी भी स्थानीय कलाकारों का उत्साह बढ़ाने के लिए भारी संख्या में मेले में आ रहे हैं। गुरूवार को सांस्कृतिक कार्यक्रमों में लोकगायिका पूनम सती व सौरभ मैठाणी ने अपनी प्रस्तुति देकर मेले में मौजूद लोगों को मंत्रमुग्ध कर दिया। इसी कड़ी में आगे कई प्रकार के नृत्य भी प्रस्तुत किये गये।

Pic 07

युगल किशोर पंत ने बताया कि मेले में उत्तराखण्ड के पहाड़ी व भारत के अलग-अलग क्षेत्रों से आये हुए लगभग 250 स्टाॅल लगाये गये हैं। स्टाॅलों में पहाड़ी दालों, मसालों, अचार, नमकीन आदि उपलब्ध है। मेले में थीम पर आधारित स्टाॅल भी लगाये गये हैं। जिसमें मिट्टी के बने लक्ष्मी, पार्वती, गणेश, दीवाली के त्यौहार को देखते हुए रंग बिरंगे विभिन्न प्रकार के दीये रखे गये हैं। नन्हें-मुन्ने बच्चों को भी यह मेला खुब पसंद आ रहा है।
Pic 03 (1)Pic 02
हिमान्या सरस मेले में आने वाले लोगों के स्वास्थ्य संबंधी आपातकालीन कक्ष भी बनाये गये हैं साथ ही लोगों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए हर तरफ निजी सुरक्षा कर्मी रखे गये हैं वहीं खाने-पीने के स्टाॅलों में साफ सफाई का भी ध्यान रखा गया है जिससे मेले में आने वाले लोगों को काई दिक्कत का सामना न करना पडें।

This entry was posted in देहरादून, संस्कृति / इतिहास, ज़रूर देखें. Bookmark the permalink.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *